दहेज के लिए सास ससुर ने उतारा गर्भवती बहू को मौत के घाट, मामला दर्ज

मंदसौर। दहेज के लिए बहू से मारपीट में गर्भपात होने का मामला सामने आया है। पुलिस को शिकायत में महिला ने ससुर पर अश्लील हरकत करने का आरोप भी लगाया है। पति, सास-ससुर व ननंद के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

बता दें कि वायडी नगर पुलिस ने बताया कि गांधी नगर निवासी आरती जोशी ने शिकायत की है। उसने बताया कि आठ फरवरी 2015 को उसका विवाह गांधी नगर निवासी गौरव पिता रमाकांत जोशी से हुआ था। विवाह के छह माह बाद ही पति, सास-ससुर और ननंद दो लाख रुपए नकद और कार की मांग करने लगे। नहीं देने पर रोज मारपीट करने लगे तथा तलाक की बात कहीं। पीड़िता के अनुसार, ससुराल वालों ने उससे एक सुसाइड नोट भी साइन करा रखा है।

विगत 13 और 14 जून को पति व सास-ससुर ने मारपीट की। 15 जून को ससुराल पक्ष के लोग जनता कॉलोनी स्थिति मायके छोड़ गए। 19 जून को पीड़ा होने पर माता-पिता जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां दो माह का गर्भपात हो गया। आरती के अनुसार, ससुर अकेला पाकर अश्लील हरकतें करते थे। घटनावाले दिन भी ससुराल वालों ने मारपीट की। तकिए से मुंह दबा दिया जिससे मैं बेहोश हो गई। पुलिस ने पति गौरव, ससुर रमाकांत एवं सास रेखा के खिलाफ मामला दर्ज किया है। ननंद भीलवाडा निवासी ग्रीष्मा ढांचा और राखी भंडिया के खिलाफ जांच की जा रही है।

इस संबंध में आरती के पिता कमल ओझा ने बताया कि मेरी बेटी को पूरा परिवार प्रताड़ित कर रहा था। ससुर अश्लील हरकत करता तो पति उस बात को छिपा लेता। शादी के छह माह बाद ही तलाक की बात कहने लगे। अब मुझे तो बस बेटी के लिए न्याय चाहिए। इस संबंध में पीड़िता के पति गौरव जोशी ने बताया कि मेरी पत्नी को महिलाओं के लिए बने सभी कानून पता है। वह गुस्से की बहुत तेज है और जिद्दी भी। शादी के छह माह बाद, वही तलाक लेना चाहती थी। मैने उसे 14 तारीख को मायके छोड़ा। मारपीट होती तो 14 को ही गर्भपात हो जाता। मैं 15 जून को थाने में आवेदन दे चुका हूं।