महादेवगढ़ में सात लाख से अधिक मंत्रों का जप

खंडवा। अखिल भारतीय रुद्राक्ष महासभा द्वारा महादेवगढ़ स्थित प्राचीन महादेव मंदिर में अतिरूद्र महाभिषेक, ओम नम: शिवाय जप एवं एक कुंडीय यज्ञ के साथ ही संपूर्ण श्रावण मास में होने वाला अतिरुद्र महायज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। धर्मिक अनुष्ठान के 11वें दिन गुरुवार तक सात लाख से अधिक मंत्रों का जप विद्वान पुरोहितों के सानिध्य में शिवभक्तों एवं शहर की मातृशक्तियों द्वारा किया गया। इस हेतु शहर की विभिन्न मोहल्लों से मातृशक्ति की टोलियों का निरंतर आना जारी है। मिर्ची बाबा के मार्गदर्शन में चल रहे जप एवं अतिरुद्र का शहर में प्रभाव बढ़ता दिखाई दे रहा है।

more than, seven, lakh, chanting, chat, mahadevgarh
lord shiva

अनुष्ठान के आचार्य पंडित रमाकांत अग्निहोत्री ने कहा कि जहां भी श्रावण मास में अतिरुद्र एवं भगवान शिव के नाम का जप होता है जप करने वाले को उसका तत्काल लाभ प्राप्त होता है। इसका प्रमाण यह है कि जिस दिन से जप एवं अतिरुद्र प्रारंभ हुआ उसके दूसरे ही दिन से पूरे प्रदेश में मानसून सक्रिय हो गया। रूद्राक्ष महासभा के प्रदेशाध्यक्ष अशोक पालीवाल ने कहा कि श्रावण मास में जहां रूद्राक्षों में ओंकार मंत्रों की प्राण प्रतिष्ठा होती है वहां साक्षात शिव निवास करते है। नकारात्मकता समाप्त होकर शत्रु भी मित्र बन जाते है।

मातृशक्ति की शारदा शर्मा, लक्ष्मी तोमर एवं पंडित शैलेंद्र पाण्डेय ने बताया कि 31 जुलाई सोमवार को शहर एवं जिले की हजारों मातृशक्तियों द्वारा अतिप्राचीन रामेश्वर कुंड से जल लेकर महादेवगढ़ स्थित शिव का जलाभिषेक करेगी जिसकी तैयारी जोरों से चल रही है। मीडिया प्रभारी सुनील जैन ने बताया कि इस धार्मिक अनुष्ठान में दुबे कॉलोनी की राधा महिला मंडल की माधुरी शर्मा, वीणा नामदेव, नर्मदा फरकले, रेखा वर्मा, रश्मि पालीवाल, मोना ठाकरे, अलका बिसेन, विमला अग्रवाल, शिलु जाधव, उर्मिला पटेल सहित बड़ी संख्या में मातृशक्ति ने शामिल होकर ओम नम: शिवाय जप किया।