मिलम ग्लेशियर के बेस कैंप में फंसे चार सौ से अधिक पर्यटक

देहरादून। एक तरफ जहां पहाड़ों में हो रही बारिश मैदानी इलाकों के लिए राहत लेकर आई है तो दूसरी तरफ पर्वतीय इलाकों में यह लोगों के लिए आफत का सबब बनती जा रही है।पिथौरागढ़ के मुनस्यारी क्षेत्र में मिम ग्लेशियर जाने वाले रास्ते में पुल बहने से चार सौ से अधिक पर्यटकों के फंस गए हैं। साथ ही नैनीताल और धारचूला में हुई बारिश से नदियां और नाले उफान पर आ गए हैं जिससे लोगों के घरों के अंदर मलबा घुस गया है।

वहीं जबरदस्त बारिश ने कुमाऊं में लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। यहां मुनस्यारी से मिलम ग्लेशियर को जाने वाले पैदल मार्ग क्षतिग्रस्त हो गया है। जिससे लोगों को आवाजाही करने के लिए पेड़ की डाल का सहारा लेना पड़ रहा है।

वहीं ग्लेशियर के नंदा देवी कैंप में ट्रैकिंग पर गए पर्यटक फंस गए हैं। ऐसे में प्रशासन के अनुसार मार्ग को फिर से ठीक करने में दो से तीन दिन का समय लग सकता है।