सूदखोर ने लगी महिला को आग

बलिया। जनपद में एक दलित महिला को सूदखोर ने पेट्रोल डालकर जला दिया। पीड़ित महिला ने अपनी बेटी की शादी के लिए सूदखोर से 10 हज़ार रूपये कर्ज लिए थे। मगर लाखों रुपए देने के बावज़ूद वो सूद के जाल से उबर नहीं पाई। पुलिस ने आरोपी सूदखोर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर मामले की तफ्तीश कर रही है।

26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस पूरा देश आज़ादी और संविधान के जरिये मिले अधिकारों का जश्न मना रहा है। देश के प्रधानमंत्री या फिर प्रदेश के मुख्यमंत्री हर कोई इस बात की तसल्ली देश वासियों को दे रहा है कि महिलाये सुरक्षित होंगी। लेकिन ये विडंबना भी देखिये की यूपी के बलिया जनपद के भीमपुरा थाना अन्तर्गत जजौली गावँ में एक दलित महिला रेशमी को शूदखोर ने पेट्रोल डालकर जला दिया। दरसल पीड़ित महिला ने कुछ वर्ष पूर्व अपनी बेटी की शादी के लिए सूद पर दस हज़ार रूपये क़र्ज़ लिया था। 10 हज़ार के क़र्ज़ के बदले महिला ने तकरीबन डेढ़ लाख रूपये दे दिए फिर सूदखोर ने महिला से और ज्यादा रुपए चुकता करने का दबाव बना रहा था।

क़र्ज़ के बोझ तले दबी और गरीबी का दंश झेल रही रेशमी अपने खेत में काम कर रही थी तभी मोटरसाइकल से पहुचे सूदखोर ने पहले तो रेशमी की पिटाई की फिर अपनी ही बाइक से पेट्रोल निकाल कर रेशमी को जला दिया। आग की लपटो को देख रेशमी चिल्लने लगी और वहा मौजूद गावँ के लोंगों ने रेशमी को बचा लिया। सूदखोरों के जाल में रेशमी जैसे ना जाने कितने लोग घुट घुट कर जीने को मज़बूर है। ऐसे में महिला सुरक्षा का दम्भ भरने वाली बलिया पुलिस के लिए भी ये मामला एक बड़ी चुनौती है । हांलाकि बलिया के पुलिस अधीक्षक का कहना है की आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और मामले के की तफ्तीश की जा रही है।

संजय तिवारी, संवाददाता