जेएनयू में जलेगी राष्ट्रवाद की अलख, होगा ‘मोदी सूत्र’ पुस्तक का विमोचन

नई दिल्ली। पत्रकार और लेखक हरीश चन्द्र बर्णवाल की नई पुस्तक ‘मोदी सूत्र’ का विमोचन और इस पर परिचर्चा प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में होगी। कार्यक्रम का आयोजन 3 फरवरी को दोपहर 2.30 बजे स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज-2 में किया गया है।
पुस्तक पर होने वाली इस परिचर्चा में भाग लेने के लिए कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के तौर पर इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के निदेशक राम बहादुर राय, हिन्दुस्थान समाचार के निदेशक और राज्यसभा सदस्य आर. के. सिन्हा के अतिरिक्त आईआईएमसी के निदेशक के. जी. सुरेश, टीवी पत्रकार सईद अंसारी, और जेएनयू के प्रोफेसर अश्विनी महापात्र मौजूद रहेंगे।

जिस जेएनयू में कल तक आतंकवादी अफजल गुरू के लिए आंसू बहाए जा रहे थे और भारत की बरबादी के नारे लगाने वालों का समर्थन किया जा रहा था, उसी जेएनयू में शुक्रवार को ‘मोदी सूत्र’ का विमोचन और इसपर परिचर्चा होने जा रही है। लेखक हरीश चन्द्र बर्णवाल के मुताबिक किताब के माध्यम से वह नरेंद्र मोदी के अनुभवों को आम आदमी तक पहुंचाना चाहते हैं। इस किताब से समाज के हर तबके को फायदा होगा। चाहे स्कूल में पढ़ने वाला बच्चा हो, किसी भी प्रोफेशन में काम करने वाला युवा हो, खिलाड़ी हो या फिर उद्यमी। नरेंद्र मोदी कमियों को छिपाते नहीं हैं बल्कि उजागर करते हैं, ताकि उसे दुरुस्त किया जा सके।

हरीश ने इससे पहले चार पुस्तकें लिखी हैं। ये हैं- मोदी मंत्र, टेलीविजन की भाषा, लहरों की गूंज, सच कहता हूं। हरीश को भारतेंदु हरिश्चंद्र पुरस्कार और हिन्दी अकादमी सम्मान समेत कई बड़े पुरस्कार मिल चुके हैं।“मोदी सूत्र” पुस्तक प्रसिद्ध हैरी पॉटर सीरीज छापने वाले ब्लूम्सबरी प्रकाशन से छपकर आई है। लेखक हरीश चन्द्र बर्णवाल पिछले 15 साल से पत्रकारिता जगत में सक्रिय हैं। उन्होंने स्टार न्यूज और आइबीएन7 समेत कई संस्थानों में काम किया है।