पीएम मोदी ने तेज प्रताप को कन्हैया कहकर बताया अस्वस्थ

पटना। देश-विदेश, हर राज्य और सोशल मीडिया की घटनाओं पर पैनी नजर रखने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने प्रकाशपर्व के अवसर पर अपने बिहार दौरे में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के पुत्र तेज प्रताप यादव को कन्हैया जी कहकर सम्बोधित किया| गुरूवार को पटना के गांधी मैदान में भोजन के दौरान मोदी की मुलाकात तेजप्रताप यादव से हुई। उन्हें देखते ही मोदी ने कहा कि, कैसे हैं कन्हैया जी? बता दें कि तेजप्रताप अपनी कृष्ण भक्ति को लेकर सोशल मीडिया में आज कल छाए हुए हैं। नए साल के अवसर पर कृष्ण का रूप धारण कर गौशाला में बांसुरी बजाई थी और उसी अंदाज में अपने पिता यादव से आशीर्वाद भी लिया था। साल के अंत में वो वृन्दावन के दौरे पर भी थे|

 

 

वृन्दावन का दर्शन करते हुए कई तस्वीरें फेसबुक पर पोस्ट भी की थी। प्रधानमंत्री से बाद में लालू प्रसाद ने तेजप्रताप का परिचय राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के रूप में कराया तो यहाँ भी मोदी ने एक दिलचस्प टिप्पणी कर दी| उन्होंने कहा कि तेज प्रताप राज्य के स्वास्थ्य मंत्री हैं, लेकिन उनका खुद स्वास्थ्य बहुत स्वस्थ नहीं दिख रहा| इस पर लालू यादव ने कहा कि तेज प्रताप अंदर से ताकतवर हैं| बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पर टिप्पणी का सोशल साईट पर जोरदार जवाब दिया है| सुशील मोदी ने कहा था कि लालू जी अपने बेटे को राजनीति में ले आये हैं लेकिन उन्हें कुछ सिखायें नहीं तो बंशी ही बजाते रह जायेंगे| इसकी प्रतिक्रिया में तेज प्रताप ने लिखा है कि मानसिक दिवालियेपन का शिकार मोदी जी की ओछी टिप्पणियों का जवाब देकर वे अपना वक्त बर्बाद नहीं करना चाहते| तेज प्रताप आगे लिखते हैं कि बेरोजगारी के इस दौर में सुशील मोदी ने अपना मानसिक संतुलन खो दिया है| उन्होंने सुशील मोदी को प्रकाशोत्सव के पर्व में पटना की सड़कों पर झारू लगाने की सलाह दी ताकि वाहे गुरू जी की कृपा से उनका मानसिक संतुलन ठीक हो जाए|