बागी बने विधायक अंजू ने मंत्री पंडित सिंह पर लगाए बड़े आरोप

गोण्डा। समाजवादी पार्टी की सरकार में गोंडा में हुए दंगों के लिए मंत्री पंडित सिंह नैतिक रूप से जिम्मेदार हैं। क्योंकि जिस क्षेत्र में ऐसे दंगे होते है उस क्षेत्र के जनप्रतिनिधि की नैतिक जिम्मेदारी होती है। सपा से बाग़ी हो भाजपा में शामिल हुए तरबगंज विधानसभा क्षेत्र के सपा विधायक अवेधश कुमार सिंह उर्फ मंजू सिंह ने आज यह बात गोण्डा में मीडिया से बातचीत के दौरान कही।

स्थानीय सपा नेता कैबिनेट मंत्री पंडित सिंह पर गंभीर आरोप लगाते हुए विधायक ने कहा कि सदर विधानसभा से विधायक चुनकर मंत्री बने पंडित सिंह अपने कुकृत्यों के कारण इस बार गोंडा छोड़ तरबगंज से जबरन चुनाव लड़ने आ गए। जबकि मैंने पांच साल तरबगंज में समाजवादी पार्टी का विधायक रहकर काफी कार्य किये है। मंत्री पंडित सिंह को अति महात्वाकांक्षी बताते हुए मंजू ने कहा कि पंडित सिंह ने मुझे धोखा दिया और साजिश करके मेरा टिकट कटवाकर तरबगंज से खुद प्रत्याशी बन गए। वे बोले कि पंडित सिंह को जिले के सारे पद चाहिए। जिला पंचायत अध्य्क्ष से लेकर सदस्य, ब्लॉक प्रमुख, बीडीसी व ग्राम प्रधान तक के सर्वाधिक पदों पर मंत्री ने कब्ज़ा कर रखा है।

हांलाकि एक सवाल के जबाब में विधायक मंजू सिंह ने यह भी कह डाला कि “यदि मुझे सपा से टिकट मिलता तो मैं भाजपा में नहीँ आता, बल्कि सपा के प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ता”। उनके इस जवाब से भाजपाइयों से भरे हाल में अटपटा सा माहौल बन गया। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सपा सरकार में तरबगंज विधानसभा क्षेत्र से पूरे पांच साल विधायक रहे अवधेश कुमार उर्फ मंजू सिंह गोंडा के सभी 6 सपाई विधायकों में से सबसे स्वच्छ छवि के निर्विवादित विधायक थे। इस बार चुनाव में इनका टिकट कट जाने से नाराज़ विधायक मंजू सिंह ने भाजपा सांसद बृजभूषण सिंह के नेतृत्व में कल दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के समक्ष भाजपा में आस्था व्यक्त करते हुए सपा छोड़ भाजपा ज्वाइन कर लिया। मंजू सिंह इससे पहले भी भाजपा में ही थे, 2012 विधानसभा चुनाव से पूर्व यह भाजपा छोड़ सपा की गोद में जा पूरे पांच वर्ष सत्तासुख भोगा।

विशाल सिंह, संवाददाता