…तो क्रिकेट में इस वजह से करती हैं मिताली शानदार प्रदर्शन

नई दिल्ली। भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज को रन बनाने की मशीन कहा जाता है। एक आम लड़की से क्रिकेट की स्टार बनने वाले राज का मिताली ने खुद खुलासा किया। महिला क्रिकेटर ने बताया कि उनके यहां तक पहुंचने के पीछे क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर के बल्ले का हाथ है। मिताली ने बताया कि सचिन सर ने मुझे बल्ला तोहफे में दिया था, जिसका मैने सदेव अच्छे से इस्तेमाल किया। मिताली ने कहा कि मेरे पास ये बल्ला आज भी है और सचिन सर को मुझे एक और बल्ला तोहफे में देना हैं।

मिताली ने कहा कि मेरे जीवन में ऐसा मौका आया था जब सचिन सर ने मुझे बल्ला तोहफे में दिया था। मैंने उस बल्लें से काफी रन बनाए है और वो बल्ला आज भी मेरे पास है। उन्होंने कहा कि सचिन सर को मुझे अभी एक और बल्ला देना है। वहीं इस दौरान मिताली के साथ मौजूद सचिन ने कहा कि मेरा मानना है कि मिताली कभी-भी रन बनाने से न रुकें। सचिन ने कहा कि मैं बल्ला लेकर आया हूं, जोकि मैं मिताली को 2021 में होने वाले अगले आईसीसी महिला विश्व कप के दौरान दूंगा।

मिताली ने चार साल बाद विश्व कप में खेलने को लेकर कहा कि वे जब-तक फिट हैं तब तक खेलेंगी। उन्होंने कहा कि मेरे क्रिकेट में बने रहने और मैच के दौरान अच्छे प्रदर्शन के पीछे सचिन तेंदुलकर ही हैं। मिताली ने आगे कहा कि जब उन्होंने 6,000 रन पूरे किए थे तब सचिन सर ने मुझे बधाई दी थी और कुछ ऐसा कहा जो मुझे आजतक याद है और हमेशा याद रहेगा। मिताली ने कहा कि सचिन सर ने मुझसे कहा था कि जीवन में कभी भी हार मत मानना और अगर तुम्हे लगे कि तुम कुछ और साल खेल सकती हो तो जरूर खेलना। मिताली ने कहा कि जब वो विश्व कप से लौटी थी तो उनसे सवाल किया गया था कि क्या मैं अगला विश्वकप खेलुंगी या नहीं। इस सवाल को सुनकर मुझे सचिन सर कि ये बात दोबारा याद आ गई थी।