बिहार में जंगलराज बरकरार नाबालिग छात्रा के साथ गैंगरेप एक आरोपी गिरफ्तार

पटना। रेप और दुष्कर्म जैसी घटनाएं कम होने ही नहीं ले रही है एक ऐसा ही मामला बिहर के लखीसराय से सामने आया है। नई दिल्ली में 16 दिसम्बर 2012 में हुए निर्भया कांड को एक बार फिर बिहार में दौहराया गया है। हम बात कर रहे है बिहार के लखीसराय में दसवीं की छात्रा के साथ हुए गैंग रेप की, मनचलों ने ना सिर्फ नाबालिग छात्रा के साथ रेप किया बल्कि रेप करने के बाद उसे चलती ट्रेन से फेंक दिया।

मिली जानकारी के मुताबिक यह घटना लखीसराय जिले के चानन थाना क्षेत्र के गांव लाखोचक की है जहां दसवीं की एक छात्रा बृहस्पतिवार की रात को शौच के लिए निकली थी उसी वक्त गांव के ही एक युवक ने छात्रा के साथ रेप किया उसके बाद लगभग आधा दर्जन साथियों के साथ मिलकर पीड़िता को वंशीपुर रेलवे स्टेशन पर लेकर गए वहां पर पीड़िता को ट्रेन में चढ़ाया और फिर उसके साथ गैंगरेप कर छात्रा को चलती ट्रेन से किऊल स्टेशन पर फेंक दिया गया।

शुक्रवार की सुबह जब यात्रियों ने पीड़िता को गंभीर हालत में स्टेशन पर पड़ा देखा तो उसे वहां से उठाया और उसे प्लेटफॉर्म पर लाया गया। सूचना मिलते ही परिजन स्टेशन पर पहुंचे और फिर वहीं के एक निजी क्लीनिक में भर्ती किया जहां के चिकित्सकों ने पीड़िता को जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया।

शनिवार सुबह परिजन जब उसे सदर अस्पताल लेकर पहुंचे तो वहां पीड़िता का इलाज किया गया,इलाज के दौरान पता चला की छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया है। जिसके बाद देर शाम को सदर अस्पताल के चिकित्सकों ने पीड़िता को पटना रेफर कर दिया ।

पीड़िता ने बताया की दुष्कर्म करने वाले छह लोग है थे,जिनमें से एक युवक संतोष कुमार को वह जानती है,दुष्कर्म करने के बाद सभी ने मिलकर किऊल स्टेशन पर चलती ट्रेन से फेंक दिया था। डीएसपी पंकज मामले की जांच के आदेश दे दिए है,आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है।

बिहार में हुए इस शर्मनाक गैंगरेप के बाद राज्य सरकार भी हरकत में आ गई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मामले में खुद संज्ञान लिया और नीतीश ने कहा की पीड़ित छात्र के इलाज में कोई लापरवाही नहीं होनी चाहिए,साथ ही आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए,ये आदेश दिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने।