सीएम के दौरे से पहले मंत्रियों का जमावड़ा

मेरठ। सीएम के दौरे से पहले मंत्रियो का मेरठ में जमावड़ा शुरू हो गया है। मेरठ में पहले तो केंद्रीय मंत्री संजीव बलिया मेरठ पहुंचे, उसके बाद राज्य मंत्री सुरेश राणा भी सर्किट हॉउस पहुंचे। सुरेश राणा ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि सीएम की मुख्य प्राथमिकता साफ़ सफाई की रहेगी, उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पश्चिम उत्तर प्रदेश की ग्राउंड रियलिटी चेक करने के लिए मेरठ आ रहे हैं।

सुरेश राणा ने बताया कि जब से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बने हैं, तब से अब तक 62 सौ करोड़ रुपए का गन्ना भुगतान किया जा चुका है। इसके अलावा 23 अप्रैल तक किसानों का पेमेंट ना करने वाली मिलो को अब 15 फ़ीसदी प्याज के साथ भुगतान करना होगा। इसके अलावा उन्होंने कहा कि 15 मई तक गंगा के किनारे बने सभी गांवों को शौचालय युक्त बनाया जाएगा । पश्चिम उत्तर प्रदेश की बीमार चीनी मिलों को पुनर्जीवन देने के लिए हाल ही में एक सर्वे कराया गया है। जिसकी रिपोर्ट भी जल्द ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने रखी जाएगी ताकि चीनी मिलें दोबारा से शुरू हो सके।

उन्होंने बसपा पर गलत तरीके से चीनी मिल बेचने का आरोप लगाया।साथ ही समाजवादी पार्टी पर बसपा के किए गए कार्य को छिपाने का आरोप लगाया। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में सपा सरकार के दौरान कार्य नहीं किए गए तभी बनारस 36 वें स्थान पर आया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश साफ़ सफाई के मामले में काफी पिछड़ा हुआ है, इसके शहर सबसे गंदे शहर है, हाल ही में हुए सर्वे में केवल एक बनारस शहर ही 100 साफ़ शहरों में से 36 वां स्थान ला सका है, जबकि और सबसे गद्दे शहरों की लिस्ट में यूपी के कई शहर आए है, इसके साथ ही यूपी में गन्ना बकाया भुगतान के लिए भी पहल की गई है, जहां डेढ़ सौ करोड़ रूपये का भुगतान किया गया है, इस तरह के कई मुद्दों पर मंत्री ने बात की और सी एम् के सामने इस तरह की समस्या रखने की बात कही।

शानू भारती