फ्रांस राजदूत से मिले पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज, देवभूमि के पर्यटन को मिलेगा नया आयाम

देवभूमि में पर्यटन की अपार संभावनाओं से इनकार नहीं किया जा सकता ऐसे में सूबे को पर्यटन की नई दिशा और नया आयाम देने की पर्यटन सचिव आर मिनाक्षी सुन्दरम और मंत्री सतपाल महाराज की कवादय अब तेज हो गई है। जिसे लेकर फ्रांस राजदूत और वहां का डेलीगेशन देवभूमि के दौरे पर हैं। बुधवार को उत्तराखंड में भ्रमण करने से पहले फ्रांस राजदूत से पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने मुलाकात की। मंत्री सतपाल महाराज ने इस दौरान उनका स्वागत किया और यहां के पर्यटन के बारे में अधिक जानकारी दी।

satpal maharaj meet france ambassador

विंटर स्पोर्टस और पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से ये दौरा किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट को फ्रांस सहयोग करेगा। इसी प्रोजेक्ट को लेकर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज और पयर्टन सचिव आर मिनाक्षी सुन्दरम फ्रांस भी गए थे। जहां पर सूबे में पर्यटनों को कैसे सुलभ और आकर्षित करने के साथ तकनीकि तौर पर और बेहतर बनाने के सभी प्रस्तावों को फ्रांस के दौरे वहां साझा किया गया था। आपको बता दें कि औली उत्तराखंड में विंटर स्पोर्टस के लिए बहुत प्रसिद्ध है।

माना जा रहा है कि तैयार प्रोजेक्टों के साथ फ्रांस से तकनीकि तौर पर कई बड़े प्रस्ताव मिल सकते हैं। यह उत्तराखंड में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अच्छा मौका साबित हो रहा है। जिससे सूबे में पर्यटन के विकास की बड़ी संभावना बन सकती है। औली दौरे के बाद फ्रांस राजदूत और उनके साथ आए डेलीगेशन के साथ मंत्री सतपाल महाराज और पर्यटन सचिव आर मिनाक्षी सुन्दरम साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस भी कर सकते हैं। इस प्रेस वार्ता में फ्रांस और राज्य सरकार के बीच पर्यटन को लेकर भविष्य में मिलने सहयोग पर भी चर्चा हो सकती है।

दूसरी तरफ जुलाई माहीने में दिल्ली में फिक्की समिट के दौरान निवेशकों को आकर्षित करने के लिए सूबे में बड़े पैमाने पर विंटर स्पोर्टस को बढ़ावा देने के साथ नई विदेशी तकनीकि से साहसिक पर्यटन को विकसित करने की बात पर्यटन सचिव आर मिनाक्षी सुन्दरम ने अपने प्रोजेक्ट में रखी थी। साथ ही इस बात का जिक्र पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने भी किया था।