मंत्री ने किया नलकूप निर्माण कार्यों का लोकार्पण

देहरादून। मंगलवार को ग्राम पंचायत हरियावाला खुर्द के जैंतनवाला में उत्तराखण्ड जल संस्थान द्वारा निर्मित घंघोड़ा पेयजल योजना के तहत नलकूप निर्माण एवं सम्बन्धी कार्यों का लोकार्पण प्रदेश के पेयजल मंत्री प्रकाश पंत और मसूरी विधायक गणेश जोशी ने किया। कार्यदायी संस्था ने बताया कि 32.93 लाख की लागत से यह नलकूप कई गांवों को पेयजल की आपूर्ति करेगा, जिसमें 10 लाख रुपये की धनराशि मसूरी विधायक द्वारा अपनी विधायक निधि से प्रदान की गई है।

बता दें कि मंत्री पंत ने कहा कि राज्य में गंगा-यमुना जैसी विश्व प्रख्यात नदियों के बाद भी यहां पर पेयजल की अत्यधिक कमी है और इस समस्या को कई बार केन्द्रीय स्तर पर भी उठाया जा चुका है। उन्होंने बताया कि वर्ष 1996 में स्वजल की स्थापना करने का उद्देश्य यह था कि इसके नाम से ही व्यक्ति को स्वयं के जल का बोध हो और वह पानी को अधिक से अधिक संरक्षित करे। स्वजल को इस तरह से विभाजित किया गया था कि 90 प्रतिशत सरकार का अंश एवं 10 प्रतिशत जनता का श्रमदान के रूप में अंश होगा। इससे आदमी स्वयं मेहनत करेगा तो उसमें पेयजल की बचत करने की ललक होगी। उन्होनें कहा कि आज हमें पानी की महत्ता को समझने का समय आ गया है तथा यह हमारी प्राथमिकता भी होनी चाहिए। उन्होनें प्रदेश सरकार की ओर से जनता का आभार प्रकट करते हुए कहा कि आपने जो भरोसा हम पर किया है उसे हम टूटने नहीं देगें।

वहीं विधायक जोशी ने कहा कि गढ़ी कैंट, अनारवाला, नयागांव, जोड़ही क्षेत्र में पेयजल की व्यवस्था करना उनकी प्राथमिकता में है। उन्होंने बताया कि जल्द ही घंघोड़ा क्षेत्र में एक हजार एमएलडी पेयजल की व्यवस्था की जाएगी, जिससे जैंतनवाला, चांदमारी, नागनाथ, घंघोड़ा, हल्दूवाला एवं विलासपुर काड़ली आदि क्षेत्र की पेयजल समस्या दूर हो जाएगी। उन्होंने कहा कि कई गांवों में स्वजल योजना के कारण पेयजल उपलब्धता में अत्यधिक परेशानी हो रही है लेकिन प्रदेश सरकार जल्द ही इन समस्याओं का हल करने जा रही है। उन्होंने पेयजल मंत्री से चांदमारी पेयजल योजना को भी तत्काल ठीक कराए जाने का अनुरोध किया। उन्होंने विलासपुर काड़ली गांव के खाली पड़े टैंक पर भी पेयजल मंत्री का ध्यान आकृष्ठ करते हुए कहा कि टैंक को भरने की व्यवस्था नहीं की गई है, जिससे पेयजल की अत्यधिक किल्लत है। उन्होंने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि 2019 तक सभी पेयजल योजनाओं में चल रही समस्याओं को दूर कर लिया जाएगा।

साथ ही स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं स्थानीय लोगों ने पेयजल योजनाओं के लिए पेयजल मंत्री एवं विधायक का आभार व्यक्त किया। ग्राम प्रधान नैन सिंह पंवार ने हरियावाला खुर्द में नलकूप एवं टैंक के निर्माण की मांग की और जिला पंचायत सदस्य संध्या थापा ने पेयजल मंत्री से नागनाथ, घंघोड़ा, हल्दूवाला एवं विलासपुर काड़ली में पेयजल की उचित व्यवस्था के लिए ओवरहेड टैंक बनवाने की मांग की। इस अवसर पर जल संस्थान के मुख्य महाप्रबंधक एसके गुप्ता, अधिशासी अभियंता जीपी गैरोला, कनिष्ठ अभियंता अनिल नेगी, जिला पंचायत सदस्य संध्या थापा, ग्राम प्रधान नैन सिंह पंवार, ग्राम प्रधान गीता आदि उपस्थित रहे।