मेघालय में नहीं लगा गौमास पर प्रतिबंध: बीजेपी

 

जहां एक तरफ गौहत्या को लेकर बैन लगाया गया है। वही मेघालय सरकार का कहना है कि यहां गौहत्या पर रोक लगाने के लिए बीजेपी सरकार ने कुछ नहीं किया। बीजेपी ने उन खबरों पर आपत्ति जताई है जिनमें कहा गया है कि बीजेपी मेघालय में गौ हत्या पर रोक लगाना चाहती है। वहीं कुछ नेताओं ने बीजेपी की विवादित अधिसचना के खिलाफ इस्तीफा दे दिया है। मेघालय में इस झूठ को फैलाने के लिए कांग्रेस पर आरोप लगाया है। उनका कहना है कि अगले साल चुनावी मैदान बनने जा रहे राज्य में काग्रेस राजनीतिकरण का संप्रदायाकरण कर रही है।

नॉर्थ गारो में बीजेपी के अध्यक्ष ने मवेशियों पर रोक लगाए जाने कारण बीते सोमवार को इस्तीफा दे दिया। इस्तीफा देने के बाद बाचू का कहना है कि मैं गारो में रहने वाले लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं कर सकता। मैं भी एक गोरा हूं इस नाते मेंरा फर्ज है कि में उनकी रक्षा करू। हमारे यहां गौमास खाना हमारी सांस्कृति का हिस्सा है और गौमास खाना हमारी पंरपरा। बीजेपी की गैरधर्मनिरपेक्ष विचारधारा मानने का लायकनहीं है। वो अपनी विचारधारा हम पर थोप रही है।

बता दें कि कोहली का कहना है कि कुछ भा सच से परे नहीं है क्योंकि हमारी संवैधानिक व्यवस्था के तहत केंद्र सरकार उस क्षेत्र का अतिक्रमण नहीं कर सकती, जिसमें राज्य सरकार को फैसला लेना होता है। मेघालय में बीजेपी का एकसुत्र ऐजेंडा है हमारा साथ सबका विकास और वो विकास के अपने ऐजेंडे पर विधानसभा चुनाव लड़ने के लिे तैयार है। साथ ही उन्होंने कहा कि मुकुल संगमा की कांग्रेस सरकार द्वारा किए गए भष्ट्राचार अधूरे वादे और विकास की कमी को पूरा करेगी। उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वो अपने वादो से भाग रही है।