रोजवेज और निजी बस संचालकों के मुद्दे पर बैठक

जयपुर। रोड़वेज बसों और लोक परिवहन की बसों के संचालन में आए दिन हो रहे टकराव को दूर करने के लिए परिवहन मंत्री यूनुस खान और राज्यभर में लोक परिवहन सेवा का संचालन कर रहे ऑपरेटर्स के साथ बैठक में हुई। परिवहन मंत्री ने निजी बस संचालकों को आश्वस्त किया कि राज्यभर में सभी संभागीय मुख्यालयों पर लोक परिवहन सेवा की बसों के संचालन के लिए स्थान चयनित कर 10 दिवस में नोटिफाई करा दिया जाएगा। इन बसों को रोडवेज के बस अड्डों के बाहर से गुजरने, निर्धारित रूट पर कहीं से भी सवारियां लेने का अधिकार होगा और सरकार इस सेवा के संचालकों का पूरा सहयोग करेगी। लेकिन अगर रोडवेजकर्मियों, निजी ऑपरेटर्स या लोक परिवहन सेवा संचालकों में से किसी ने भी कानून को हाथ में लिया तो सरकार सख्ती से पेश आएगी।

 

उन्होंने संचालाकों से कहा कि जयपुर में सेवा के संचालन के लिए न्यू आतिश मार्केट मेट्रो स्टेशन के पास सुविधायुक्त बस स्टेण्ड उपलब्ध करा दिया गया है। शेष संभागीय मुख्यालयों पर 10 दिवस में वैकल्पिक स्थान चिन्हित कर उन्हें नोटिफाई करवा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि लोक परिवहन सेवा की बसें उन सभी जगह जाएंगी और अपनी सेवाएं देंगी जहां के लिए उन्हें परमिट दिया गया है। पुलिस, प्रशासन और परिवहन विभाग उनको हर संभव सहयोग करेंगे। लोक परिवहन सेवा के फिलहाल 1400 परमिट जारी किए जा चुके हैं आवश्यकता होने पर और परमिट जारी किए जा सकते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार रोडवेजकर्मियों के कल्याण के लिए भी प्रयास कर रही है। रोडवेज बेड़े में 1000 नई बसें शामिल करने की बात हो या कार्मिको के वेतन, पेंशन आदि के मामले सरकार उदारतापूर्वक सभी समस्याओ के हल के लिए प्रयासरत है।