जी-20 शिखर सम्मेलन में ट्रंप-पुतिन के बीच होगी मुलाकात

हैम्बर्ग। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन शुक्रवार को हैम्बर्ग में आयोजित जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान पहली बार एक दूसरे के साथ रू-ब-रू होंगे। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट से मिली। दोनों देशों के नेताओं ने कहा है कि वे सीरिया, यूक्रेन समस्या और कथित तौर पर अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रूसी हस्तक्षेप को लेकर संबंधों में आई खटास को दूर करना चाहते हैं।

रूसी मीडिया के अनुसार, दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे तक की मुलाकात होने वाली है,जबकि अन्य रिपोर्टों के मुताबिक, यह मुलाकात लगभग 30 मिनट की ही होगी।
विदित हो कि जलवायु परिवर्तन और व्यापार संरक्षण को लेकर हैम्बर्ग में जी-20 सम्मेलन स्थल के निकट प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों और पुलिस कर्मियों के बीच संघर्ष हुआ जिसमें करीब 76 पुलिस कर्मी घायल हो गए हैं। वहीं शुक्रवार को दोपहर तक और जन रैलियां होने की आशंका जाताई जा रही हैं। गौरतलब है कि जलवायु परिवर्तन और व्यापार के मुद्दे पर दुनिया के नेता बंटे हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि बुधवार को ट्रंप ने पोलैंड की राजधानी वारसा में एक जन सभा को संबोधित करते हुए सीरिया और यूक्रेन के मुद्दे पर रूस को खूब खरी खोटी सुनाई थी और उसे नसीहत भी दी थी।

उन्होंने कहा कि मॉस्को को सीरिया और ईरान के शासकों का समर्थन करना बंद देना चाहिए और जिम्मेदार देशों के समुदाय में शामिल होना जाना चाहिए। राष्ट्रपति ट्रंप ने रूस से ‘आम शत्रुओं के खिलाफ लड़ाई और सभ्यता की रक्षा में’ शामिल होने का आग्रह किया था।
हालांकि क्रेमलिन टिप्पणी को खारिज कर दिया है। लेकिन रूसी राष्ट्रपति के एक प्रवक्ता ने कहा कि दोनों देशों के बीच गलतफहमियां दूर करने के लिए ट्रंप और पुतिन के बीच संभावित मुलाकात महत्वपूर्ण है।

क्या है G-20, कौन होगा शामिल

इस सम्मेलन में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों समेत अन्य शीर्ष नेताओं के हिस्सा लेने की संभावना है आपको बता दें कि उन्नीस देशों और यूरोपीय संघ के संगठन को ग्रुप ऑफ 20 कहा जाता है अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनिशया, इटली, जापान, मैक्सिको, रूस, सउदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, ब्रिटेन और अमेरिका इस समूह के सदस्य हैं।