आशीर्वाद नहीं ये बाबा देते हैं मेडिसिन जानिए क्यों…

नई दिल्ली। आजतक आपने जादू दिखाने वाले,भीख मांगने वाले, कलाकारी करने वाले, हाथों में कमंडल लेकर आशीर्वाद देने वाले बाबाओं को देखा होगा लेकिन आज हम आपको एक ऐसी शख्सियत से रूबरू कराने जा रहे हैं जिन्हें लोग मेडिसिन बाबा कहते हैं। तो चलिए जानते हैं मेडिसिन बाबा की कहानी और एक आम इंसान से मेडिसिन बाबा बनने तक का उनका ये दिलचस्प सफर…

दरअसल ये कहानी है ओमकार नाथ शर्मा की जो दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके मे रहते है और उनको लोग मेडिसिन बाबा के नाम से जानते है। आपको बता दें कि ओमकार नाथ एक रिटायर्ड ब्लड बैंक टेकनीशियन है जो पिछले 6 सालो से गरीबों को फ्री में दवाइयां उपल्बध करा रहे है।

गौरतलब है कि साल 2008 में पूर्वी दिल्ली में मैट्रो कन्सट्रक्शन के दौरान एक ब्रिज के गिर जाने से वहां काम कर रहे कुछ मजदूरों की तभी जान चली गई और जो कुछ घायल हुए थे वो अपने लिए दवाई खरीदने में असमर्थ थे जिसके कारण उनकी भी मौत हो गई। इस हादसे के बाद ओमकार नाथ ने गरीबों और जरुरत मंदो को फ्री में मेडिसिन उपलब्ध कराने का फैसला किया।

ओमकार नाथ का कहना है कि अगर उनके दवाईयां मांगने से लोगों की जिंदगी बच रही है तो इसमें क्या परेशानी। ओमकार नाथ लोगों के घर जा-जा कर लोगों से उनके घरों में रखी बेकार दवाईयां मांगते है इसके लिए वो दिल्ली और दिल्ली के आस-पास के इलाकों में जाते है और जिस तरह सब्जी वाला सब्जी बेचता है उसी तरह यह दवाईयां मांगते है और गरीबों को फ्री में दवाईयां उपल्बध कराते है। ओमकार इन दवाईयों को कुरियर के जरिए भी लोगों तक पहुंचाते है और चैरिटेबल हॉस्पिटल्स में भी डोनेट करते है।