मेरठ पुलिस ने किया नेहा मर्डर मिस्ट्री का खुलासा, 4 आरोपी गिरफ्तार

मेरठ। मेरठ के बहुचर्चित अनुष्का उर्फ नेहा मर्डर मिस्ट्री का खुलासा करते हुए पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार करने का दावा किया है जिसमें मुख्य आरोपी शोएब और उसके पिता अब्दुल हबीब अभी और एक अज्ञात आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं । कातिल शोएब के साथियों ने पुलिस को जो इकबालिया बयान दिया है उसे सुनकर आपकी रूह कांप जायेगी। उनके मुताबिक अनुष्का की लाश ठिकाने लगाने के बाद शोएब ने सुमनलता को भी कार में गोली मार दी थी। पुलिस ने शोएब के साथियों की निशानदेही पर स्कोडा कार को बरामद कर लिया है। जिस इको कार में सुमनलता को गोली मारी गई वो भी पुलिस ने कब्जे में ले ली है हालांकि पुलिस अभी तक सुमनलता की लाश बरामदगी नहीं कर पाई है।

मेरठ पुलिस लाइन में आयोजित प्रेस वार्ता में पुलिस ने सात अप्रैल को हुए नेहा मर्डर मिस्ट्री का खुलासा करते हुए अमित, संदीप, नाजिश और जावेद को पकड़ने का दावा किया है। पुलिस के मुताबिक मुख्य आरोपी शोएब पहले से ही फाइनेंस का काम करता था। नेहा और उसके परिवार वाले भी शोएब को 4-5 सालों से जानते थे और इसीलिए नेहा को वहाँ नौकरी मिली थी और जिस दिन ये घटना हुई थी, उस दिन नेहा के आफिस पहुँचने के बाद उसके किसी मित्र ने उसको शापिंग के लिए कहीं बाहर ले जाने की बात कही जिसपर शोएब ने उसको मना किया। लेकिन उसके बाद भी नेहा शापिंग के लिए चली गई और जब वह शापिंग करके वापस लौटी तो शोएब ने गुस्से में उससे झगड़ा किया। झगड़ा इतना बढ़ गया कि शोएब ने अपने पार्टनर अमित के साथ मिलकर आफिस में ही नेहा की हत्या कर दी। जिसके बाद दोनों लावड़ चले गये और वहाँ इको गाड़ी टैक्सी में चलवाने वाले गाड़ी मालिक नाजिश को फोन कर गाड़ी भेजने के लिए कहा। जिसके बाद गाड़ी ड्राइवर संदीप लेकर आया।

इस बीच नेहा की मां सुमनलता लगातार शोएब को फोन करके अपनी बेटी के बारे में पूछ रही थी जिसपर शोएब ने सुमनलता को पल्ल्वपुरम से अपने साथ गाड़ी में बैठा लिया और बेगमपुल पर ले आया। यहां पर उसने कई घंटों तक अपने पार्टनर अमित को सुमनलता के साथ एक दुकान पर छोड़ दिया। सुमनलता को कोल्ड डिंक और स्नैक्स खिलवाए गए। और फिर शोएब ने उसको इस बात के लिए कन्वेंस भी किया कि तुम्हारी बेटी सही सलामत है और वो दिल्ली किसी सेमिनार में गई है। परन्तु जब सुमनलता को उन पर विश्वास नहीं हुआ तो शोएब ने कहा कि मैं तुम्हे विश्वास दिलाने के लिए तुम्हारी बेटी से मिलवाने उसके पास लेकर चलता हूँ जहाँ पर सेमिनार चल रहा है। और इस बहाने उसको इको गाड़ी में बैठाकर लावड़ के लिए चल दिये जहाँ रास्ते में शोएब ने गाड़ी में ही गोली मारकर सुमन की भी हत्या कर दी। जिसके बाद वो लाश को लेकर लावड़ के कब्रिस्तान पहुँचा जहाँ पर शोएब के पिता और एक अज्ञात व्यक्ति पहले से ही मौजूद थे। शोएब अपने पिता और उस अज्ञात व्यक्ति को लाश ठिकाने लगाने के लिए देकर वापस आ गया और इसी बीच मौका निकालकर उसने आफिस में पड़ी नेहा की लाश को बोरे में बन्द करने के बाद गाड़ी में रखकर लालकुर्ती इलाके के मिलिट्री एरिया जंगल में फेंक दिया। उधर फरार आरोपी शोएब पहले भी ऐसी अपराधिक घटनाओं में लिप्त है।

इस मामले में आरोपी ड्राइवर संदीप का कहना है कि शोएब ने ही मेरी चलती गाड़ी में सुमनलता को गोली मारी थी जिसके बाद मैं पूरी तरह डर गया था। गोली मारने के बाद शोएब ने गाड़ी कब्रिस्तान के लिए करवा ली जहाँ पर पहले ही मोटरसाइकिल पर दो लोग मौजूद थे। संदीप के मुताबिक उन्होने गाड़ी से लाश निकालने के बाद संदीप से गाड़ी धोने के लिए कहा तो वह गाड़ी लेकर भाग गया, और सीधा गाड़ी मालिक के घर पहुँचकर उसको पूरा घटनाक्रम बताया। जिसके बाद मालिक ने तुरन्त गाड़ी को अन्दर करवाते हुए उसमें रखा सुमनलता का पर्स निकाल लिया, और संदीप को इस बारे में किसी से कुछ भी कहने के लिए मना कर दिया।

 -शानू भारती, संवाददाता मेरठ