मेरठ पुलिस ने 29 लाख के पुराने नोटों के साथ पांच को किया गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश। मेरठ पुलिस को एक बड़ी कामयबी हाथ लगी है,मेरठ पल्लवपुरम पुलिस ने मोदीपुरम चेकपोस्ट के पास मारवाड़ी भोज से बुधवार को चार लोगों के साथ एक महिला को गिरफ्तार किया है,पांचों लोगों के पास से एक बैग बरामद किया गया है, जिसमें 29.42 लाख के पुराने नोट बरामद हुए है। सभी नोट 500 और 1000 के है, पुलिस पांचों को पकड़कर थाने ले गई और पूछताछ की।

मोदीपुरम पुलिस चौकी के पास मारवाड़ी भोज में एक महिला और चार लोगों की मीटिंग चल रही थी, इसी बीच मुखबिर से मिली सूचना के पर पल्लवपुरम पुलिस ने मारवाड़ी भोज में छापा मारकर पांचों को दबोच लिया। इनके कब्जे से एक काले रंग का बैग भी बरामद हुआ है जिस बैग में से 29.42 लाख के पुराने नोट थे।

नोटों को देखते ही पुलिस के होश उड़ गए। सभी को थाने लाकर पूछताछ की गई। सभी को पुलिस ने अलग-अलग ले जाकर पूछताछ, पांचों की बात से मेल नहीं खा रही थी। पांचों की पहचान परतापुर रिठानी निवासी पूर्व प्रधान अमर सिंह का बेटा शक्ति सिंह उर्फ जोनी, परतापुर का गांव गावड़ी निवासी रविंद्र, मोदीनगर में भूपेंद्र पुरी निवासी दीपक, दौराला के गांव मछरी निवासी मनोज और मोदीनगर में मोहल्ला ठाकरी निवासी ममता के रूप में हुई है।

ममता और दीपक के बीच दोस्ती बताई गई है। थाने लाने के बाद पूछताछ में पता चला कि सारा रुपया शक्ति सिंह उर्फ जोनी का है। शक्ति की रिठानी में स्पेयर पार्ट्स की दुकान है। पूछताछ के बाद पुलिस सभी आरोपियों पर मात्र एनसीआर में कार्रवाई कर रही है।

दो बैंक मैनेजरों के माध्यम से बदलने थे नोट: शक्ति और रविंद्र गहरे दोस्त हैं। पुलिस के मुताबिक रुपया शक्ति का है। शक्ति ने रविंद्र से रुपया बदलवाने को कहा था। रविंद्र ने अपनी दोस्ती कई बैंक के मैनेजरों से होनी बताई थी। वहीं दीपक और ममता एक कंपनी में एजेंट हैं, जिनकी पहचान रविंद्र और मनोज से पुरानी है।

मौके पर पहुंच सभी को दबोचा: मछरी गांव का मनोज भी अपने संबंध कई बैंक मैनेजरों से होने की बात कह रहा था, जिसके बाद सभी लोग मारवाड़ी भोज में एकजुट हुए। शक्ति भी नोटों को लेकर मौके पर पहुंच गया। इसी बीच सूचना पर पुलिस ने छापा मारकर नोटों को बरामद किया है और सभी को गिरफ्तार।