सभी धर्मों का सम्मान नहीं करते मोदीः मायावती

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सियासी रण में चौथे चरण के मतदान के प्रचार के आखिरी दिन सभी राजनेता मतदाताओं को लुभाने के लिए चुनाव प्रचार कर रहे हैं। मायवती ने आज संवाददाताओं को संबोधित करते हुए केंद्र सरकार और पीएम मोदी द्वारा दिए गए दरगाह वाले बयान की निंदा की है। मायावती ने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए मायावती ने कहा कि मोदी बिना सोचे समझें कुछ भी बोलते हैं।

सभी धर्मों का सम्मान

मोदी पर सवाल खड़ा करते हुए मायावती ने कहा कि, क्या वो सभी धर्मों का सम्मान करते हैं। आगे बोलते हुए मायावती ने कहा कि प्रदेश में 18 से 20 फीसदी मुस्लिम लोग रहते हैं और भाजपा इस बात को जानती है लेकिन इसके बाबजूद पार्टी ने किसी भी मुस्लिम प्रत्याशी को रण में नहीं उतारा है।

हर धर्म और त्यौहार का सम्मान

बसपा की तारीफों के पुल बांधते हुए मायावती ने कहा कि बसपा हर धर्म का सम्मान करती है इसलिए उसने टिकट देने में कोई भेदभाव नहीं किया है।

इससे पहले सोमवार को मायावती ने सुलतानपुर की रैली में पीएम मोदी को उनके ही भाषण पर तीखा जवाब दिया। दरअसल, पीएम मोदी ने जालौन की रैली में कहा था कि बसपा का नाम बदलकर बहनजी सम्पत्ति पार्टी हो गया है। इस पर मायावती ने पलटवार करते हुए कहा था कि न ही मैंने शादी की और न ही सम्पत्ति बनाई है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी जुमलेबाजी करना भूल जाएंगे। पीएम मोदी के नाम का आशय ही दलित विरोधी शख्सियत से है। पीएम मोदी नहीं जानते कि बसपा पार्टी बाद में है, एक आन्दोलन पहले है। मायावती ने कहा था कि मैंने शादी नहीं की और पूरी जिंदगी अल्पसंख्यकों और दलितों के विकास में लगा दी।