403 विधानसभा सीटों पर बसपा ने खेला जातिगत कार्ड

लखनऊ। दिग्गज नेताओं का साथ छूटने के बाबजूद रण में अकेले उतरने के लिए तैयार मायावती ने मंगलवार को जातिगत टिकटों का ऐलान कर दिया है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार उतार दिए हैं। इस सूची में मायावती ने जातिगत कार्ड खेलते हुए 87 सीटों पर दलित उम्मीदवारों और 97 पर मुस्लिमों को उतारा है। संवाददाताओं से बातचीत करते हुए मायावती ने उम्मीदवारों की सूची जारी की है।

माया के जातिगत कार्ड पर नजर

प्रदेश की कुल 403 विधानसभा सीटों पर एससी को 87, मुस्लिम को 97, ओबीसी को 106 और अगड़ी जाति के 113 उम्मीदवार हैं। अगड़ी जातियों में 66 टिकट ब्राह्मणों को, 36 कायस्थ और 11 वैश्य और पंजाबी समाज के लोगों को दिए गए हैं।

किस आधार पर टिकट का बंटवारा

उम्मीदवारों की सूची जारी करते हुए मायावती ने कहा कि प्रदेश में टिकट बंटवारे में यह देखा गया है कि कौन कितना बीएसपी के आंदोलन से जुड़ा रहा है।इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लखनऊ में चुनावी रैली के एक दिन बाद बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने मीडिया से बात करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि बीजेपी की नीतियां आम जनता के खिलाफ है।

उम्मीदवारों के नाम की घोषणा से पहले की प्रेस कॉन्फ्रेंस

समाजवादी पार्टी में चल रहे घमासान के बीच बसपा सुप्रीमो मायावती प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। मीडिया से बात करने हुए बहन जी ने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा, उन्होंने बिना किसी तैयारी के नोटबंदी जैसा बड़ा फैसला ले लिया। भगवान करें  नए साल में पीएम को सद्बुद्धि आए। नोटबंदी एक बड़ा फैसला है और आजाद भारत का काला अध्याय है।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोली मायावती

  • विधानसभा चुनावों में पूरी ताकत लगा देगी
  • सपा, बीजेपी में मिलीभगत
  • पीएम का राष्ट्र के नाम संबोधन में घोषणाएं खानापूर्ति
  • डेढ़ साल पहले पीएम ने घोषणाएं क्यों नहीं की?
  • अच्छे दिन के आसार बेहद कम है
  • पीएम मोदी की लखनऊ में रैली हुई फेलः मायावती
  • नोटबंदी से गई लोगों की जान
  • आम लोगों के लिए जी का जांजल बन गई है केंद्र सरकार
  • बिना तैयारी लिया गया नोटबंदी का फैसला
  • आम जनता के पास अपना पैसा खर्च करने की आजादी हो

मोदी की लखनऊ रैली फेल

केंद्र की सत्तारूढ़ पार्टी बीजेपी और पीएम मोदी को निशाना बनाते हुए मायावती ने कहा कि सोमवार को लखनऊ में हुई मोदी की रैली बिल्कुल फेल रही है। रैली में भीड़ के नाम पर मात्र चंद लोगों ही थे। मायावती ने यह भी कहा कि भीड़ को देखकर उम्मीद लगाई जा सकती है कि आगामी विधानसभा चुनावों में बीजेपी को कितने वोट मिलेंगे।