शेयर बाजार में मिले-जुले रुख के बीच बाजार मजबूती के साथ बंद

मुंबई। वैश्विक बाजारों के मिले-जुले रुख के बीच बीते सप्ताह भारतीय शेयर बाजार मजबूती के साथ बंद हुए। बीते सप्ताह पांच कारोबारी सत्रों में से चार सत्र में बाजार मजबूती के साथ बंद हुए। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किए जाने से बुधवार को दोपहर के बाद बाजार में सकारात्मक रुझान दिखाई दिया। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित सूचकांक सेंसेक्स 516.52 अंकों यानी 1.96 फीसदी की मजबूती के साथ 26,747.18 पर बंद हुआ जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित सूचकांक निफ्टी 174.95 अंकों यानी 21.6 फीसदी की बढ़त के साथ 8,261.75 पर बंद हुआ। बीएसई मिडकैप सूचकांक 2.75 फीसदी की मजबूती रही। बीएसई स्मॉलकैप सूचकांक में 1.96 फीसदी की मजबूती रही।

economic-figures-quarterly-results-will-determine-the-stock-market-moves

इस दौरान अमेरिकी शेयर बाजार ट्रंप प्रशासन द्वारा करों में कटौती की उम्मीदों से रिकॉर्ड ऊपरी स्तर को पार कर गए। सेंसेक्स सोमवार यानी पांच दिसंबर को हल्की मजबूती के साथ बंद हुआ। इस दौरान सेंसेक्स 118.44 अंकों यानी 0.45 फीसदी की बढ़त के साथ 26,349.10 अंकों पर बंद हुआ जो एक दिसंबर के बाद इसका अब तक का सबसे उच्चतम स्तर रहा।

बाजार के प्रमुख सूचकांक छह दिसंबर यानी मंगलवार को भी मजबूती के साथ बंद हुआ। इस दौरान सेंसेक्स 43.66 अंकों यानी 0.17 फीसदी की बढ़त के साथ 26,392.76 पर बंद हुआ। हालांकि, सात दिसंबर यानी बुधवार को आरबीआई द्वारा ब्याज दरों में बदलाव नहीं किए जाने के फैसले से बाजार लाल निशान में फिसल गए। सेंसेक्स 155.89 अंक यानी 0.59 फीसदी की गिरावट के साथ 26,236.87 पर बंद हुआ जो दो दिसंबर के बाद से इसका सबसे निचला स्तर रहा।

हालांकि, आठ दिसंबर यानी गुरुवार को मजबूत वैश्विक संकेतों, धातु, वाहन आदि क्षेत्रों में मजबूती की वजह से बाजार के प्रमुख सूचकांक मजबूती के साथ बंद हुआ। सेंसेक्स 457.41 अंकों यानी 1.74 फीसदी की मजबूती के साथ 26,694.28 पर बंद हुआ जो 11 नवंबर के बाद इसका अब तक का सबसे उच्चतम स्तर है।

सप्ताह के आखिरी कारोबारी सत्र यानी नौ दिसंबर (शुक्रवार) को भी प्रमुख सूचकांकों में मजबूती रही। सेंसेक्स 52.90 अंकों यानी 0.2 फीसदी की बढ़त के साथ 26,747.18 पर बंद हुआ। बीते सप्ताह वाहन क्षेत्र के शेयरों में मजबूती रही। बीएसई ऑटो में 4.16 फीसदी की मजबूती, बजाज ऑटो में 0.54 फीसदी, हीरो मोटोकॉर्प में 3.06 फीसदी और मारुकि सुजुकी इंडिया में 3.3 फीसदी की मजबूती रही।

वैश्विक मोर्चे पर यूरोपीय केंद्रीय बैंक (ईसीबी) ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया। ईसीबी अपने क्वांटिटेटिव ईजिग (क्यूई) कार्यक्रम को अगले साल दिसंबर या उससे अधिक अवधि तक जारी रखेगा लेकिन केंद्रीय बैंक का कहना है कि वह अपनी मासिक संपत्ति खरीदारी को अप्रैल से 80 अरब यूरो से घटाकर 60 अरब यूरो करेगा।