कृमि मुक्ति दिवसः दवाई के रिएक्शन से कई छात्र पड़े बीमार

रूढ़की। रूड़की के निकट स्थित गांव धर्मपुर के राजकीय प्राथमिक विद्यालय में आज उस समय हड़कंप मच गया जब नन्हे-नन्हे छात्र-छात्राओं को एक के बाद एक करके चक्कर आने लगे और उल्टियां होने लगी उसके बाद विद्यालय कर्मचारियों ने आनन-फानन में बच्चों को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया।

दरअसल आज राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के मौके पर पूरे जनपद के सरकारी विद्यालयों में विद्यार्थियों को पेट के कीड़े मारने की दवाई एल्बेनडाजोल खिलाई जाने का कार्यक्रम चला इसी कड़ी में रुड़की के धर्मपुर गांव के राजकीय प्राथमिक विद्यालय में भी बच्चों को दवाई खिलाई गयी लेकिन दवाई खिलाने के कुछ देर के बाद ही वहां कुछ विद्यार्थियों ने चक्कर आने की शिकायत की देखते ही देखते बच्चों को उल्टियां आने लगी और लगभग एक दर्जन बच्चे दवाई के रिएक्शन की चपेट में आ गए आनन-फानन में विद्यालय प्रशासन ने बच्चों को रूड़की के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराने के साथ ही उनके परिजनों को सूचित किया जहाँ बच्चों का इलाज शुरू हो गया है।

इस मामले में जब सीआरसी शिक्षा विभाग रुड़की से पूछा गया तो उन्होंने माना कि पेट के कीड़े मारने के लिये बच्चों को एल्बेनडाजोल की गोली चिकित्सा विभाग द्वारा सभी स्कूलों को उपलब्ध कराई गई थी जिसे विद्यालय कर्मचारियों द्वारा बच्चों को खिलाया गया था लेकिन उसका रिएक्शन जिस रूप में आया है वो हैरत में डालने वाला है। सवाल ये उठता है कि सामान्य रूप से इस दवाई को खिलाया जाना क्या सही है अगर ऐसे रिएक्शन सामान्य है तो इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग को स्कूलों को देनी चाहिये थी।

 -शकील अनवर