इस काढ़े को पीने से दूर होगीं कई बिमारियां

नई दिल्ली। आजकल दौड़ भाग की जिन्दगी में आराम नहीं मिलता है। ऐसे में अने बिमारियां लोगों को घेर लेती है। इस व्यस्त जिन्दगी में हम अपने खाने पीने और दिनचर्या पर ध्यान नहीं दे पाते । शरीर में न्यूट्रीशन की मात्रा कम होती जाती है, जिसके चलते बिमारियां हमें घेर लेती हैं। इससे बचने के लिए हमें अपने रोजाना के खान के साथ फलों और हरी सब्जियों के साथ न्यूट्रीशन से भरे अनाजों का सेवन करना चाहिए। इन्हीं में एक है अलसी जिसमें आमेगा-3 फैटी एसिड, प्रोटीन, फाइबर, विटामिन्स और मिनरल मिलते हैं। इसके बीज का काढ़ा कई बिमारियों के लिए बड़ा है कारगर उपाय है।

आइये जानते हैं कि इसका काढ़ा कैसे बनाते हैं। इसके साथ ही ये किन बड़ी 5 बिमारियों में कामगार साबित होते हैं। क्योंकि असली का बीज बहुत ही लाभदायक होता है। इसके सेवन से शरीर में जरूरी प्रोटीन और विटामिन की जरूरत पूरी होती है।

इसका काढ़ा तैयार करने के लिए अलसी के बीजों को लेकर दो कप पानी में मिक्स करें। इसके बाद इस पानी को बीजों के साथ उबाले इसको तब तक उबालते रहे जब तक पानी आधा ना हो जाये। इसके साथ इस काढ़े को छान लें फिर ठंड़ा होने के लिए छोड़ दे। ठंड़ा होने पर इस काढ़े का सेवन करें। इस काढ़े के सेवन से कई बिमारियों से निजात मिलने के साथ शरीर में जरूरी प्रोटीन और विटामिन की मात्रा बढ़ती है।

अगर आपके जोड़ों में दर्द रहता है। घुटनों में दर्द के चलते चलने में तकलीफ रहती है। इसके साथ ही शरीर के ज्वाइंट में दर्द बना रहा है तो ऐसी समस्याओं से बेहतर निजात पाने के लिए अलसी के काढ़े का रोजाना सेवन लाभप्रद रहता है। अलसी का काढ़ा थाइरॉएड में भी काफी लाभकारी होता है। सुबह खाली पेट एक कप अलसी का काढ़ा पीने से हाइपोथाइरॉएड और हाइपरथाइरॉएड दोनों में काफी आराम मिलता है।

ह्रदय के रोग से ग्रसित लोगों के लिए अलसी रामबाण है। नियमित सेवन से आर्टरीज में ब्लॉकेज दूर होती है। जिससे आपको एंजियोप्लास्टी कराने की जरूरत नहीं पड़ती। इसके बीज में मौजूद ओमेगा-3 मानव शरीर में कोलेस्ट्राल एलडीएस के लेवल को कम करता है इसके साथ ही हार्ट की बिमारी को बढ़ने से रोकता है। इसके साथ ही इसके नियमित सेवन से कब्ज, पेट की समस्याओं से भी निजात मिलती है। इसके साथ ही इसके सेवन से मोटापा कम होता है। शरीर से अतिरिक्त वसा निकालने में मदद मिलती है।