मैनचेस्टर में और हो सकते हैं आतंकी हमले: थेरेसा मे

नई दिल्ली। मैनचेस्टर में बीते सोमवार को हुए आतंकी हमले से पूरा ब्रेटेन सदमें है। मैनचेस्टर में रॉक कॉन्सर्ट में हुए हमले में 22 लोगों की मौत के बाद ब्रिटेन में अलर्ट का लेवल गंभीर कर दिया गया है। आतंकी हमले के खतरे के अलर्ट के हिसाब से यह सबसे ऊंचा लेवल है। साथ ही सुरक्षा के लिए सेना को भी तैनात करने का फैसला किया गया है। ब्रिटेन के प्रशासन की ओर से बढ़ाए गए इस लेवल का मतलब ये है कि आतंकी हमले का खतरा अभी टला नहीं है और कोई दूसरा हमला भी हो सकता है।

बता दें कि प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने सरकार की आपातकालीन कैबिनेट ऑफिस ब्रिफिंग रूम (COBRA) की बैठक के बाद कहा कि सुरक्षा बढ़ाने के लिए सेना और सशस्त्र बलों का इस्तेमाल किया जाएगा। थेरेसा मे ने बैठक के बाद कहा कि इसका मतलब ये हुआ कि यह केवल एक हमला नहीं है और संभव है कि बहुत जल्द दूसरा हमला भी हो सकता है। पिछली बार अलर्ट का यह सबसे ऊंचा लेवल जून 2007 में किया गया था। मे ने कहा कि संभव है कि मैनेचेस्टर हमले में कई लोग शामिल हों और इन्हें नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

साथ ही मे का कहना है कि सशस्त्र बलों के जवानों को सभी जरूरी जगाहों पर तेनात किया जाना चाहिए। ताकि पुलिस को पट्रोलिंग के काम से फिलहाल मुक्त रखा जा सके। उन्होंने बताया कि सेना के जवानों को कॉन्सर्ट और खेलों के आयोजन जैसे सार्वजनिक कार्यक्रमों में तैनात किया जा सकता है। मैनचेस्टर में सोमवार को मैनचेस्टर अरीना में पॉप सिंगर अरियाना ग्रांडे के म्यूजिक कॉन्सर्ट के समय धमाका हुआ था। इस धमाके में 22 लोगों की मौत हो गई थी।