लखनऊ का एसिड अटैक मामला निकला झूठा, महिला के खिलाफ कार्रवाई शुरू

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के अलीगंज पुलिस की प्रथम दृष्टया जांच में महिला पर फेंके गए एसिड का मामला फर्जी निकला। एसिड अटैक की वारदात का आरोप उसी महिला ने लगाया जिसने पिछले तीन माह पूर्व ही एसिड पिलाये जाने का गंभीर आरोप लगाया था। महिला द्वारा फर्जी आरोप लगये जाने पर एसएसपी ने मामले को संज्ञान में लिया और कार्रवाई के आदेश थाना पुलिस को दिया है।  पुलिस के मुताबिक, अलीगंज थानाक्षेत्र स्थित समाज कल्याण विभाग के गर्ल्स हॉस्टल में रहने वाली एक महिला ने पिछले दिनों गंभीर आरोप लगाया कि उसके ऊपर अज्ञात लोगों ने ऐसिड फेंका है।

बता दें कि पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेकर रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू की। लेकिन तेजाब फेंकने वालों का कुछ भी पता नहीं चल सका है। महिला पर एसिड अटैक के मामले में एफएसएल रिपोर्ट में एसिड की पुष्टि ही नहीं हुई है। तो वहीं पुलिस मामले को फर्जी बता रही है। इस संबंध में एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि महिला ने पुलिस को गुमराह किया है, फर्जी अटैक की वारदात के बाद पुलिस भी सख्त रवैया अपनाने जा रही है। महिला के खिलाफ 182 सीआरपीसी के तहत पुलिस को झूठा साबित करने के जुर्म में कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी है।