जितना कम बोलूं, मेरे लिए उतना बेहतर: सलमान

मेड्रिड। ‘दुष्कर्म की शिकार महिला जैसा महसूस’ करने वाला बयान देकर विवादों में घिरे सुपरस्टार सलमान खान ने अब कम बोलने का फंडा अपना लिया है। उनका कहना है कि उनका कम बोलना ही बेहतर है।

CAMDEN, June 24, 2016 (Xinhua) -- People count ballots at Camden Centre Town Hall in UK, June 24, 2016. Skynews says official result shows leave camp wins UK Brexit vote. (Xinhua/Richard Washbrooke/IANS)
CAMDEN, June 24, 2016 (Xinhua) — People count ballots at Camden Centre Town Hall in UK, June 24, 2016. Skynews says official result shows leave camp wins UK Brexit vote. (Xinhua/Richard Washbrooke/IANS)

यहां गुरुवार को 17वें इंटरनेशनल इंडियन फिल्म एकेडमी (आईफा) के लिए रखे गए एक संवाददाता सम्मेलन में सलमान ने चार दिवसीय फिल्मोत्सव के अपने अब तक के अनुभव के बारे में बात की। उन्होंने कहा, “मुझे मालूम है कि यह एक लंबी शाम रही है, इसलिए मैं कम और जल्दी बोलूंगा।”

इस पर दर्शकों में बैठी एक महिला ने उन्हें ‘नो’ कहकर और बोलने के लिए प्रेरित किया और उनसे मंच पर थोड़ी देर और रुकने की दरख्वास्त की। जिस पर सलमान ने ‘दुष्कर्म पीड़िता’ संबंधी अपने हालिया विवादित बयान की ओर इशारा करते हुए कहा, “मुझे कम बोलना होगा। मैं जितना कम बोलूं मेरे लिए उतना बेहतर है।”

सलमान ने पिछले दिनों मीडिया से बातचीत करते समय कहा था कि अपनी आगामी फिल्म ‘सुल्तान’ के कुश्ती दृश्यों को करने के बाद वह जब अखाड़े से चलकर बाहर आते थे, तो एक दुष्कर्म की शिकार महिला जैसा महसूस करते थे। उन्हें हालांकि तुरंत अपने बयान के गलत होने का अहसास हो गया था और उन्होंने कहा था, “मुझे नहीं लगता कि मुझे यह कहना चाहिए।”

सलमान ने कहा था कि उनका कहने का मतलब था कि उन्हें कुश्ती वाले दृश्यों की शूटिंग के बाद चलने में बहुत दिक्कत होती थी। सलमान ने यह भी कहा कि वह आज जो कुछ हैं, उसके पीछे स्पेन के एक बंदे का हाथ है। उन्होंने कहा, “मैं यह दूसरी बार स्पेन आया हूं। लेकिन मैं आज जो कुछ हूं, जहां हूं, वहां स्पेन के एक आदमी की बदौलत हूं। वह मेरे लिए पिता समान थे। वह मेरे स्कूल के प्रिंसिपल थे। वह अब नहीं रहे, लेकिन हम उनसे स्कूल में बहुत प्यार करते थे।”

(आईएएनएस)