पिछले मैच की गलतियों से सीखा: विराट कोहली

सेंट लूसिया। वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में शानदार जीत दर्ज करने के बाद भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि उनकी टीम न जमैका टेस्ट में हुई गलतियों से सीखा और इसी कारण उन्हें तीसरे टेस्ट मैच में जीत मिली है। भारत ने तीसरे टेस्ट मैच के अंतिम दिन शनिवार को वेस्टइंडीज को दूसरी पारी में महज 108 रनों पर समेट 237 रनों से जीत दर्ज करते हुए चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली है।

virat kholi

भारत ने अपनी पहली पारी में 353 रन बनाए थे और वेस्टइंडीज को उसकी पहली पारी में 225 रनों पर ही समेट दिया था। मेहमानों ने अपनी दूसरी पारी सात विकेट के नुकसान पर 217 रनों पर घोषित कर दी और मेजबानों को दूसरी पारी में 108 रनों पर ढेर करते हुए श्रृंखला पर कब्जा जमाया। भारत ने पहला मैच पारी और 92 रनों से अपने नाम किया था जबकि जमैका में खेला गया दूसरा टेस्ट मैच ड्रॉ रहा था। कोहली ने मैच के बाद कहा कि जमैका में उनसे कुछ गलतियां हुईं जिनसे उन्होंने सीख हासिल की और इस मैच में उनको नहीं दोहारया।

कोहली ने कहा, “जमैका में हमसे कुछ गलतियां हुई जिन्हें हमने सुधारा। हमने यहां चौथे दिन उन गलतियों को दोहराया नहीं। हमने 31 रनों पर सात विकेट हासिल किए और यह मैच का परिणाम बदलने में कारगर रहा। हम हमेशा से भारत के बाहर श्रृंखला जीतना चाहते थे। यह अच्छी शुरुआत है।”

कोहली ने इस मैच में तीन बदलाव किए थे और मैच के बाद उन्होंने इसे सही ठहराया। कोहली ने कहा, “हमने इस मैच में तीन बदलाव किए और हमें पता था कि रोहित को एक निश्चित स्थान देने की जरूरत थी। मैंने तीसरे क्रम पर बल्लेबाजी की अजिंक्य रहाणे ने चार नंबर पर। रोहित पांच नंबर पर काफी खतरनाक बल्लेबाज है। अगर रविचंद्रन अश्विन अच्छी बल्लेबाजी कर सकते हैं तो मुझे पांच गेंदबाजों के साथ खेलने में कोई परेशानी नहीं होगी।”

कोहली ने लंबे समय बाद टेस्ट मैच खेल रहे भुवनेश्वर कुमार की भी तारीफ की। भुवनेश्वर ने पहली पारी में पांच विकेट अपने नाम किए थे जबकि दूसरी पारी में उनके हिस्से एक विकेट आया।
भारतीय कप्तान ने कहा, “भुवनेश्वर ने शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने गेंदबाजों को बताया कि एक क्षेत्र में लगातार किस तरह गेंदबाजी की जाती है। हमने कुछ विकेट जल्दी खो दिए थे, लेकिन टेस्ट क्रिकेट इसी को कहते हैं। हो सकता है मैं ज्यादा आलोचनात्मक हूं, लेकिन त्रिनिदाद में मैं पूर्ण प्रदर्शन देखना चाहता हूं।”