मध्य प्रदेश में बारिश ने ली 102 जानें

भोपाल। मध्य प्रदेश में बारिश का कहर जारी है, बीते 80 दिनों में 102 लोगों की मौत का कारण बारिश बनी है और सात लोग अब भी लापता हैं। आधिकारिक तौर पर रविवार को दी गई जानकारी के अनुसार, प्रदेश में एक जून से 21 अगस्त की अवधि में 51 में से 31 जिलों में सामान्य से अधिक, 18 में सामान्य और दो में सामान्य से कम बारिश दर्ज की गई है। इसी अवधि में बाढ़ और अति वर्षा से तीन लाख 79 हजार 542 आबादी प्रभावित हुई। वहीं 102 लोगों की जानें गई हैं। जबलपुर जिले में सर्पदंश से हुई 14 लोगों की मौत इसमें शामिल है। पंद्रह लोग घायल हुए हैं और सात लोग लापता हैं।

mp-rains-+

इसके अलावा वर्षा से 2638 मकान पूरी तरह और 38 हजार 641 आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुए। बाढ़ के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में समय-समय पर संचालित राहत शिविरों की संख्या 135 रही है। इन शिविरों का उपयोग 19 हजार छह लोगों ने किया। मानसून मौसम में सबसे ज्यादा सतना में 30 और रीवा में 27 शिविर वर्तमान में संचालित किए जा रहे हैं। मानसून के तल्ख मिजाज ने प्रदेश के 26 जिलों में 281 पशुहानि हुई। पन्ना जिले में दो बांध फूटे और छतरपुर जिले में दो पुलिया क्षतिग्रस्त हुई। प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में बाढ़ से उत्पन्न स्थिति में राहत और बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की 117, एसडीआरएफ की 5000 और पुलिस की 800 टीम कार्यरत है।