15 साल राज कर अपनी अमीरी बढ़ाने में लगे रहे लालू : सुशील मोदी

पटना। बिहार के पूर्व -उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को एक जमींदार बताते हुए गुरुवार को कहा कि राज्य में जिन लोगों ने लगातार 15 साल तक राज किया वे जनता की गरीबी दूर करने के बजाय अपनी अमीरी बढ़ाने में लगे रहे। भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा की ओर से डा. अम्बेडकर की 126 वीं जयंती पर आयोजित एक समारोह को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि लालू परिवार ने राबड़ी देवी और लालू यादव के रेलमंत्री रहते हुए यूपीए सरकार के दौरान सारी जमीन लिखवाई।

 

उन्होंने कहा कि जिन लोगों से लालू परिवार ने अपने लिए जमीन लिखवाई उनमें केवल शराब फैक्ट्री और होटलों के पूंजीपति मालिक ही नहीं बल्कि मंत्री, विधायक और सांसद बनाने के एवज में राजनेता भी शामिल हैं। सुशील मोदी ने कहा कि आज बिहार का सबसे बड़ा जमींदार लालू का परिवार है जिसने पिछले कुछ वर्षों में अकूत बेनामी सम्पति बटोर लिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि शराब फैक्ट्री लगाने वाली कम्पनी ए.के इंफोसिस्टम की शहर की बेशकीमती जमीन हथियाने वाले लालू यादव खुलासे के चार दिन बाद भी चुप्पी साधे हुए हैं।

25 सालों में केवल अपने और परिवार का ही किया भला

भाजपा नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार में हिम्मत नहीं है कि अपने मंत्रियों के भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई करें और उनकी बेनामी सम्पतियों को जब्त करें। भाजपा नेता ने कहा कि सामाजिक न्याय की आड़ में लालू प्रसाद यादव ने विगत 25 वर्षों में केवल अपने और परिवार का ही भला किया है और अपने प्रभाव का गलत इस्तेमाल कर इतनी सम्पत्ति इकट्ठा कर लिया है कि वे 21वीं सदी के सबसे बड़े जमींदार बन गये हैं।

बेनामी सम्पत्ति के लिए बेनामी कंपनियों को किया खड़ा

सुशील मोदी ने कहा कि चारा घोटाले के मामले में फंसने के समय लालू प्रसाद यादव ने कहा था कि उन्हें उनकी शादी के समय दहेज में एक बाछी (गाय का बच्चा) मिली थी जिसका परिवार बढ़ता गया और उसी बाछी के बढ़े हुए परिवार का दूध बेचकर यहां तक पहुंचे हैं। सुशील मोदी ने आश्चर्य व्यक्त किया कि कोई भी व्यक्ति डेयरी का व्यवसाय कर 500 करोड़ रुपये का मालिक कैसे बन सकता है। उन्होंने कहा कि बेनामी सम्पत्ति के लिए बेनामी कंपनियों को खड़ा किया गया जिनमें बाद में लालू ने अपने पत्नी के साथ ही बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव को रखा।

तेजस्वी यादव ने अपने शपथ पत्र में बेनामी सम्पत्ति का नहीं किया उल्लेख

भाजपा ने नेता ने कहा कि नीतीश मंत्रिमंडल में शामिल राजद अध्यक्ष के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव और उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने अपने शपथ पत्र में बेनामी सम्पत्ति का कहीं भी उल्लेख नहीं किया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लालू यादव के दोनों पुत्रों को बचाना चाह रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस मामले में जरूरत पड़ी तो वे आयकर विभाग, केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) रेल मंत्रालय तथा अन्य आवश्यक एजेंसियों का दरवाजा भी खटखटाएंगे।