लालू ने दी पीएम को अभी लोकसभा चुनाव कराने की चुनौती

पटना: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव और बिहार की सत्ता में साझेदार आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देते हुए कहा कि अगर उनमें हिम्मत है तो अभी लोकसभा चुनाव करा कर दिखाएं। लालू ने पॉना में मीडिया से मुखातिब होकर कहा कि बीजेपी ने नीति आयोग के उस सुझाव कि राजनीतिक स्थिरता के लिए विधानसभा और लोकसभा का चुनाव एक साथ होने के सुझाव का समर्थन किया है। तीन साल हो गया। हिम्मत है तो लोकसभा को भंग कर दीजिए। जिन राज्यों में हाल में चुनाव होने हैं, वहां के साथ लोकसभा का चुनाव करा दें। आपको अपनी जगह का पता चल जाएगा।

बता दें कि आरजेडी सुप्रीमो ने कहा कि नीति आयोग ने विधानसभा और संसद का चुनाव एक साथ होने का सुझाव दिया है। फेडरल सिस्टम और क्षेत्रीय दलों को नेस्तनाबूद करना चाहते हैं। इसको हमलोग चलने नहीं देंगे। नीति आयोग का यह काम नहीं था, पर उसके जरिए ये संविधान को बदलने में लगे हुए हैं।

वहीं लालू ने केंद्र पर हमला करते हुए कहा कि देश इनके हाथों में सुरक्षित नहीं है। ये देश को दूसरी दिशा में ले जा रहे हैं। ये लोग देश के टुकड़े-टुकड़े कर देना चाहते हैं। अंदरूनी तौर पर अस्थिरता तो है ही, बाहरी तौर पर अस्थिरता पैदा कर रहे हैं और ये पीछे हटते जा रहे हैं। बीजेपी की सरकार कायर सरकार है। ये सब डरपोक हैं। इसको बस गद्दी चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि जब-जब बीजेपी केंद्र में सत्ता में आई। अटल बिहारी वाजपेयी जी के कार्यकाल के दौरान पाकिस्तान की ओर से कारगिल पर हमला हुआ, जिसकी रक्षा करने में बिहार रेजिमेंट के जवानों सहित न जाने कितने देश के अन्य भागों के जवान शहीद हो गए।

साथ ही लालू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक पुराना भाषण सुनाते हुए उनकी 2015 में नवाज शरीफ से मिलने जाने की चर्चा पर दोहरी बात करने का आरोप लगाते हुए कहा कि आपके कार्यकाल में लगातार जवानों के सिर कलम किए जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के देवरिया निवासी प्रेम सागर के घर मिलने गए, वहां के मुख्यमंत्री योगीनाथ के ठहरने के लिए एसी और कारपेट बिछाया गया और मिनरल वाटर का इंतजाम किया गया। जवानों को मारकर उनके शवों क्षतविक्षत किया जा रहा है और मोदी सरकार इस पर एक्शन लेने के बजाय पीछे हटती जा रही है।

वहीं लालू का कहना है कि जब तक केंद्र में हम लोगों कि सरकार थी। तब तक जम्मू कश्मीर में पाकिस्तान का झंडा नहीं लहराया गया था, पर आज वहां पाकिस्तान का झंडा लहराया जा रहा है। जब तक हम सत्ता में थे वहां वोट का प्रतिशत पूरा होता था लेकिन अब वहां का वोट प्रतिशत गिरकर सात प्रतिशत हो गया है। उन्होंने कहा संसद पर हमला करने वाले अफजल गुरु को जम्मू कश्मीर विधानसभा में पीडीपी ने शहीद का दर्जा दिया था और उसी पार्टी के साथ आप सरकार बनायी है। भोजन नहीं मिलने की बात पर सैनिक को बर्खास्त किया जा रहा है, जो देश के रखवाले हैं उनके साथ ठीक व्यवहार नहीं हो रहा है।