कप्तान को है मेरे कोच पद और मेरे स्टाइल से परेशानी: अनिल कुंबले

नई दिल्ली। भारताीय क्रिकेटर अनिल कुंबले ने इंडियन टीम के कोच का पद छोड़ दिया है। भारतीय कोच सिलेक्शन कमेटी ने कुंबले को कोच की पोस्ट पर बने रहने रे लिए कहा था लेकिन कुंबले नहीं माने और उन्होंने कोच के पद से इस्तीफा दे दिया। कुंबले एक साल पहले ही कोच बने थे। कुंबले का कहना है कि उनके  पद छोड़ने की सबसे बड़ी वजह विराट से मनमुटाव है। कुंबले की कोचिंग के दौरान टीम इंडिया ने अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन उसके बाद भी कुंबले और विराट के बीच रिश्ते इतने खराब हो गए कि कुंबले के पास पद छोड़ने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा। कुंबले ने ट्वीट के जरिए अपना दर्द व्यक्त किया उसमें उन्होंने अपनी ड्यूटी आईना दिखाने वाली बात कही। हालांकि ये खुलासा नहीं हुआ कि कुंबले किसे आईना दिखाने की बात कर रहे हैं।

टीम के कप्तान को मेरे स्टाइल से परेशानी है: कुंबले

कुंबले का कहना है कि टीम के कप्तान को मेरे स्टाइल से सबसे ज्यादा परेशानी है। लेकिन मैं सीएजी का अहसानमंद हूं की उन्होंने मुझ पर विश्वास जताया और मुझे बतौर कोच काम जारी रखने को कहा। कुंबले ने कहा कि मैं अपनी एक साल की उपलब्धियों का श्रेय कैप्टन, पूरी टीम, कोचिंग और स्पोर्टिंग स्टाफ को दूंगा।

कुंबले ने कहा कि मुझे बीसीसीआई से पता चला कि कप्तान को मेरे स्टाइल और कोच पद पर बने रहने से परेशानी है। इस बात से मुझे धक्का लगा क्योंकि मैने हमेशा कप्तान और कोच के बीच की सीमाओं की इज्जत की है। लेकिन अब हमारे बीच के रिश्ते इतने खराब हो चुके हैं कि अब मेरा यहां से मूव कर जाना ही बेहतर है।

कुंबले का कहना है कि मेरे लिए एक कोच का मतलब है। टीम के हित में आत्म सुधार करने के लिए आईना लेकर खड़ा रहना। इसलिए मैंने सोचा की इस जिम्मेदारी को अब बीसीसीआई को सौंप दिया जाए उन्हें जो इस जिम्मेदारी को निभाने के लायक लगेगा वो उसे ये जिम्मेदारी सैंप देंगे। उन्होंने कहा कि ‘मैं अनुयायों और क्रिकेट फैन्स को भारतीय क्रिकेट टीम के लिए उनके समर्थन के लिए के शुक्रिया अदा करना चाहता हूं। साथ ही उन्होंने कहा कि मैं क्रिकेट की इस परंपरा का शुभचिंतक रहूंगा।