अपना आवास छोड़ राष्ट्रपति चुनाव होने तक महेश शर्मा के बंगले पर रहेंगे कोविंद

नई दिल्ली। एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद अब अपने पुराने बंगले की जगह नए बंगले में रहेंगे। सुरक्षा कारणों के चलते यह फैसला किया गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गृह मंत्रालय ने सुरक्षा के मद्देनजर राष्ट्रपति चुनाव तक कोविंद को केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा के सरकारी आवास में रहने की अनुमति दी है। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

बता दें कि महेश शर्मा को इससे पहले जो सरकारी बंगला 10 राजाजी मार्ग पर अलॉट हुआ था, वो अब वर्तमान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को अलॉट किया गया है। यानी कार्यकाल खत्म होने के बाद राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी इस बंगले में रहेंगे। ये बंगला महेश शर्मा को अलॉट होने से पहले पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के पास था।

20 जून को भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक के बाद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के तौर पर रामनाथ कोविंद के नाम का ऐलान किया था। इसके बाद शाम को ही वो दिल्ली पहुंच गए थे। इसके बाद उन्होंने नॉर्थ ब्लॉक स्थित फ्लैट नंबर 144 में रात गुजारी, लेकिन अब वो 10 अकबर रोड के सरकारी बंगले में रहेंगे। अगर कोविंद राष्ट्रपति बन जाते हैं, तो वो राष्ट्रपति के सरकारी आवास रायसीना हिल्स में रहेंगे।

फिलहाल, ये आवास केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा को अलॉट किया हुआ है। हालांकि, वो अपने सरकारी आवास में ज़्यादा न रहकर नोएडा में अपने निजी आवास में रहते हैं। दो महीने पहले जब मनहोर पर्रिकर रक्षा मंत्री पद से इस्तीफा देकर गोवा के मुख्यमंत्री बने उसके बाद 10 अकबर रोड का सरकारी बंगला महेश शर्मा को अलॉट हुआ था।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति चुनाव 17 जुलाई को होने हैं। साथ ही वर्तमान राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो जाएगा। रामनाथ कोविंद अगस्त 2015 से ही बिहार के राज्यपाल थे। राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए नाम का ऐलान होने के बाद ही कोविंद ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।