कोच्चि मेट्रो की खास बातें, क्यों हैं कोच्चि मेट्रो खास

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोच्चि मेट्रो में यात्रा करने वाले पहले यात्री बनेंगे। केच्चि में मेट्रो ट्रेन की उद्घाटन की जानकारी बुधवार को दी गई थी। वही अपने पहले चरण में यह अलुवा से पलारीवत्तोम की बीच चलेगी जोकि 13 किलोमीटर का लंबा मार्ग है। आपकों बता दें कि उद्घाटन के दौरान केरल के राज्यपाल पी सदाशिवम, मुख्यमंत्री पिनरई विजयन, शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू सहित मेट्रो मैन के नाम से चर्चित ईं.श्रीधरण मौजूद रहेंगे।

पढ़ें चार साल पहले शुरु हुई इस परियोजना की मुख्य बातें

  • पीएम नरेन्द्र मोदी शनिवार को कोच्चि मे़ट्रो का उद्घाटन करेंगे। कोच्चि मेट्रो का पहला फेज 13.2 किलोमीटर का होगा इस मेट्रो का विस्तार 25 किलोमीटर तक किया जाना हैं।
    कोच्चि मेट्रो के निर्माण का कार्य 2013 में शुरु हुआ ता इसकी जिम्मेदारी डीएमआरसी को दी गई थी।
  • आपकों बता दें कि इस परियोजना में कुल 5180 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान लगाया गया था।
    13 किलोमीटर के दायरे में 11 स्टेशन होंगे यह मार्ग पलरिवतोम से अलुवा की दूरी तय करेगा कुल 25 किलोमीटर के दायरे में 22 स्टेशन होंगे।
  • अलुवा से पलरिवतोम जाने में सड़क मार्ग से 45 मिनट का वक्त लगता हैं। मेट्रो से यह दूरी महज 23 मिनट में तय होगी।
  • मेट्रो का न्यूनतम किराया 15 रुपए और अधिकतम किराया 30 रुपए होगा। अगर दिल्ली की बात करे तो दिल्ली में संचालित मेट्रो का न्यूनतम किराया 10 रुपए और अधिकतम 50 रुपए हैं।
  • यह देश की पहली मेट्रो बहैं जिसमें कम्यूनिकेशन आधारित ट्रेन कंट्रोल टेक्नॉलाजी का इस्तेमाल होगा इसका मकसद फ्रीक्वेंसी को बढ़ाना और त्रुटियों को कम करना होगा।
  • कोच्चि मेट्रो की खास बात ये हैं कि इसके हर मेट्रो स्टेशन पर एक खास थीम होगी ये थीम समुद्री इतिहास, पश्चिमि घाट और शहर के इतिहास से संबंधित होंगे।
    प्रत्येक स्टेशन में सोलर पैनल लगे होंगे मेट्रो में इस्तेमाल होने वाली बिजली के 25 प्रतिशत हिस्से का उत्पादन इन्हीं पैनलों का लक्ष्य रखा गया हैं।
  • यह देश की पहली मेट्रो होगी जहां स्टेशन पर ट्रांसजेंडर कर्मचारियों को नियुक्त किया जाएगा। खास बात ये हैं कि उद्घाटन के दिन कम से कम स्टेशन पर 23 ट्रांसजेंडर कर्मचारी मौजूद रहेंगे।

सृष्टि विश्वकर्मा