जानिए हिंदू धर्म के संस्कारों के पीछे क्या है वैज्ञानिक महत्व

हिंदू धर्म में आज भी सिर पर चुटिया देखी जा सकती है, कई लोग इसे देखकर हैरान भी हो जाते हैं जबकि प्रचीनकाल में हमारे ऋषि मुनी सिर पर चुटिया रखते थे। जिसे आज भी कई लोग रखते हैं। वहीं इस पर वैज्ञानिक तर्क भी सामने आया है बताया जाता है कि दिमाग को स्थिर रखने में इसका बहुत महत्व है।

क्योंकि जिस जगह चुटिया का स्थान होता है वहां हमारे दिमाग की सारी नसें भी आकर मिलती हैं, जिस कारण दिमाग स्थिर रहने से इंसान को गुस्सा नहीं आता इतना ही नहीं उसके सोचने की क्षमता में इजाफा होता है।

क्यों करते हैं सूर्य नमस्कार:-

भारत में सुबह-सुबह बालकनी या फिर छत पर कई लोग हाथों में लोटा लिए सूर्य के सामने जल चढ़ाते नजर आते हैं। इसके पीछे वैज्ञानिक कारण ये कहता है कि सूर्य को चढ़ाने वाले जल से छनकर आने वाली रौशनी हमारी आंखों की रौशनी को बढ़ाती है।

आखिर हाथ जोड़कर ही क्यों की जाती है नमस्ते:-

नमस्ते करने के दौरान हाथों को जोड़ना क्यों पड़ता है ये सवाल अकसर हमारे दिमाग को कसरत करने पर मजबूर करता है जबकि विज्ञान की मानें तो जब सभी उंगलियों के शीर्ष एक दूसरे के संपर्क में आते हैं और उन पर दबाव पड़ता है। एक्यूप्रेशर के कारण उसका सीधा असर हमारी आंखों, कानों और दिमाग पर होता है, ताकि सामने वाले व्यक्त‍ि को हम लंबे समय तक याद रख सकें।

वहीं एक तर्क है भी कहता है कि हाथ जोड़कर नमस्ते करने से सामने वाले के शरीर में मौजूद कीटाणु आप तक नहीं पहुंच सकते। अगर सामने वाले को स्वाइन फ्लू भी है तो भी वह वायरस आप तक नहीं पहुंचेगा।

पीपल की पूजा का महत्व:-

पीपल की पूजा के पीछे ये भ्रम रहता है कि ऐसा करने से भूत-प्रेत भागते हैं जबकि वैज्ञानिक दृष्टिकोण ये कहता है कि ताकि इस पेड़ के प्रति लोगों का सम्मान बढ़े और उसे काटें नहीं। क्योंकि पूरी सृष्टि में यही एक ऐसा पेड़ है जो रात में भी ऑक्सीजन प्रवाहित करता है।

जमीन पर बैठकर भोजन करना:-

आज कल शादी पार्टियों या किसी अन्य महोत्सव ने खड़े होकर खाने का प्रचलन है जबकि हिंदू धर्म में पालथी मारकर भोजन करने को श्रेष्ठ बताया गया है इसके पीछे वैज्ञानिक तर्क ये कि इस तरह पालथी मारकर भोजन करने से मस्त‍िष्क शांत रहता है और भोजन करते वक्त अगर दिमाग शांत हो तो पाचन क्रिया अच्छी रहती है। इस पोजीशन में बैठते ही खुद-ब-खुद दिमाग से एक सिगनल पेट तक जाता है, कि वह भोजन के लिये तैयार हो जाये।

तुलसी की पूजा:-

हमारे घरों में अकसर तुलसी के पेड़ को देखा जा सकता है इसका वैज्ञानिक तरक ये कहता है कि तुलसी इम्यून सिस्टम को मजबूत करती है। लिहाजा अगर घर में पेड़ होगा, तो इसकी पत्त‍ियों का इस्तेमाल भी होगा और उससे बीमारियां दूर होती हैं।