क्या ताबड़तोड़ फैसले रखेंगे यूपी में ‘योगी युग’ की ‘आधारशिला’?

नई दिल्ली। यूपी में प्रचंड बहुमत के बाद भाजपा के जहन में गहन-चिंतन के बाद एक नाम सामने आया और वो है योगी आदित्यनाथ।
योगी का नाम सुनते ही जो छवि लोगों के मन में आती है वो है उनके कपड़ों का भगवा रंग। योगी की उम्र महज 44 साल है लेकिन बीते दिनों गोरखपुर का सांसद अपनी 23 दिन की सरकार में ताबड़तोड़ फैसलों के चलते काफी सुर्खियां बटोरी।

योगी को देखकर ऐसा लगता है कि मानों उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नारों को अपने जहन में बिठा लिया हो और अब उनका मुख्य उद्देश्य उसी नारे को साकार रुप देना है। योगी के सत्ता संभालते ही जहां एक ओर उत्तर प्रदेश की जनता में खुशी की लहर थी तो वहीं उनके बैक टू बैक निर्णयों की लिस्ट भी काफी लंबी है। जिसमें शपथ लेते ही एंटी रोमियों विंग का गठन हो या फिर पहली कैबिनेट मीटिंग में किसानों की कर्जमाफी का फैसला हो। तो चलिए जानते है योगी की निर्णयों की लंबी लिस्ट में सबसे ज्यादा किन निर्णयों ने सुर्खियां बटोरी….

एंटी रोमियो स्क्वॉयड ने लगाई मनचलों की वॉट:-

सूबे में भाजपा के योगी सरकार के अस्तित्व में आने के साथ ही यहां चुनावी घोषणा पत्र पर अमल शुरू हो गया। 24 घंटे बाद ही एंटी रोमियो सेल के गठन के साथ ही मनचलों पर खाकी का डंडा चला। खासकर कॉलेजों के आसपास मंडराने वाले मनचलों को एंटी रोमियो टीम ने सन्देश दे दिया कि छेड़खानी की तो सलाखों के पीछे जाना होगा।

भाजपा ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में महिलाओं से छेड़छाड़ को मुद्दा बनाया था। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनावी सभाओं में मंच से ऐलान किया था कि सूबे में सरकार बनने के साथ ही एंटी रोमियो टीम बनाई जाएगी। वादे पर खरा उतरते हुए सरकार ने इस सेल का गठन करते हुए सीनियर आईपीएस अफसरों को इसकी कमान देते हुए इसे सरकार की उच्च प्राथमिकता में शामिल किया।

अवैध बूचड़खानों पर चलाया हंटर:-

यूपी में इन दिनों योगी सरकार का लिया गया सबसे बड़ा फैसला अवैध बूचड़खआनों पर प्रतिबंध लगाना है। सरकार ने ऐलान किया है कि अब राज्य में जितने भी अवैध बूचड़खाने होंगे उन्हें बंद किया जाएगा। सरकार के इस आदेश के बाद अभी तक करीबन 300 से ज्यादा बूचड़खानों को सील किया जा चुका है। यूपी की तर्ज पर झारखंड, बिहार और राजस्थान तक इसकी आग पहुंची और वहां पर भी कई जगह अवैध बूचड़खाने बंद किए गए। योगी से जब इसके बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि जो बूचड़खानें अवैध हैं वो अवैध हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं किसी के स्वाद पर रोक नहीं लगा सकता लेकिन कोई शाकाहारी बनेगा तो ज्यादा स्वस्थ रहेगा।

लघु और सीमांत किसानों का कर्ज माफ:-

कैबिनेट की पहली बैठक में ही योगी ने वादा पूरा करते हुए किसानों का कर्ज माफ करने का फैसला लिया। इस फैसले के चलते जिन किसानों ने भी एक लाख तक का फसली बीमा लिया है उसे माफ कर दिया है। सरकार के इस फैसले से 2.15 किसानों का फायदा होगा तो साथ ही छोटे और सीमांत किसानों को बड़ी राहत दी है।

अब 24 घंटे जगमग होगा उत्तर प्रदेश:-

योगी सरकार ने एक और फैसला यूपी को 24 घंटे रौशन करने का लिया है। योगी आदित्यनाथ ने ऐलान करते हुए कहा है कि 14 अप्रैल से सभी मुख्यालयों में 24 घंटे बिजली दी जाएगी और तहसील सहित गांव में 18 घंटे लगातार बिजली दी जाएगी। इसके साथ ही सरकार ने लक्ष्य रखा है कि साल 2018 में सभी जगह बिजली होगी जिनमें तीर्थ स्थल भी शामिल है।

गन्ना समितियों से 355 लोगों को दिखाया बाहर का रास्ता:-

सत्ता संभालने के बाद योगी सरकार एक के बाद एक एक्शन ले रही है। कैबिनेट की बैठक से ठीक पहले योगी ने एक ऐसा फैसला लिया है जिसने सबको चौंका दिया है। किसानों के हित में फैसला लेते हुए यूपी सरकार ने गन्ना विभाग की संस्थाओं में से नामित एवं नियुक्त गैर सरकारी व्यक्तियों का नामांकन निरस्त करके उन्हें काम से निकाल दिया गया है। बता दें कि योगी सरकार ने 355 लोगों को काम से तत्कालिन प्रभाव से निकाल दिय़ा है। राज्य सरकार का ये फैसला गन्ना किसानों को सीधे भुगतान के नजरिए से काफी अहम माना जा रहा है।

‘समाजवादी शब्द’ का होगा सफाया:-

बीती सरकार की बात करें तो उन्होंने ज्यादातर योजनाओं में ‘समाजवादी शब्द’ का इस्तेमाल जरुर किया था फिर चाहे समाजवादी पेंशन योजना हो, समाजवादी एंबुलेंस सेवा या फिर समाजवादी स्मार्ट फोन योजना ही क्यों ना हो। लेकन अब आपको ये सब नाम नहीं सुनाई देंगे क्योंकि योगी सरकार ने ‘समाजवादी शब्द’ का सफाया करते हुए अब समाजवादी की जगह मुख्यमंत्री शब्द जोड़ दिया है।

जेवर में बनेगा एयरपोर्ट:-

कितनी सरकार आई और गई लेकिन पश्चिमी यूपी में एयरपोर्ट बनाने की हसरत उनकी सर्फ एक हसरत ही बनकर ले गई। मायावती सरकार जेवर में एयरपोर्ट बनाना चाहती थी और मंजूरी भी दी थी लेकिन अखिलेश आगरा में बनवाना चाहते थे लेकिन अब योगी सरकार जेवर में एयरपोर्ट बनवाने पर दोबारा विचार कर रही है। कहा जा रहा है कि जेवर में एयरपोर्ट बनाने को लेकर ऐलान हो सकता है। जेवर नोएडा के पास है जो कि केन्द्रीय मंत्री महेश शर्मा का संसदीय क्षेत्र भी है और राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह का विधानसभा क्षेत्र है ऐसे में ये फैसला काफी अहम हो सकता है।

नकल पर कसी नकेल:-

पिछले काफी समय से योगी सरकार को नकल की शिकायतें मिल रही थी। जिसके चलते सरकार ने 57 केंद्रों को परीक्षा लेने से रोक लगा दी है तो वहीं 111 परीक्षा केंद्र के 178 निरीक्षकों के साथ-साथ 70 से ज्यादा छात्रों पर सख्त कदम उठाते हुए एफआईआर दर्ज की। इसके साथ ही नकलचियों को सबक सिखाने हुए वाट्यअप नंबर भी जारी किया है। जिस पर कोई भी व्यक्ति नकल के संबंध में सूचना दे सकता है। ये हेल्पलाइन नंबर 0522-2236760, 9454457241 है। शिकायत मिलते ही संबंधित जिले के अधिकारी तुरंत कार्यवाई करेंगे। ये नंबर हर दिन 12 घंटे काम करेगा और इस दौरान आप इस पर नकल संबंधित सूचना दे सकते है।

15 दिन में मांगा सभी मंत्रियों से संपत्ति का ब्यौरा:-

योगी ने अपने मंत्रिमंडल के साथ एक बैठक में दो अहम फैसले सुना दिए। बैठक में योगी ने अपने संभी मंत्रियों को संपत्ति का ब्यौरा पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को 15 दिनों के अंदर सौंपने के लिए कहा है।

विवादित बयान से देने से बचने की दी हिदायत:-

ताजपोशी होने के बाद ही योगी आदित्यनाथ ने प्रेस वार्ता में भी साफ कर दिया था कि उनके मंत्रिमंडल का एक भी मंत्री विवादित बयान नहीं देगा। बयानबाजी की वजह से होने वाली फजीहत से बचने के लिए यूपी सरकार ने कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और मथुरा से विधायक एवं कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा को यूपी बीजेपी सरकार का प्रवक्ता बनाया गया है।

राशन कार्ड से हटेगा का समाजवादी ठप्पा:-

सत्ता धारी योगी सरकार ने अब सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की फोटो को हाल में जारी किए गए राशन कार्ड से हटाने का निर्देश दिया है। सरकार ने ऐलान करते हुए कहा कि समाजवादी ठप्पे वाले राशन कार्डों को वापस लिया जाए और इनकी जगह स्मार्ट राशन कार्ड बांटे जाए। यूपी में कुल 3 करोड़ 40 लाख अखिलेश की फोटो वाले राशन कार्ड छपे थे जिसमें से 2 करोड़ 80 लाख राशन कार्ड बट चुके हैं ऐसे में बचे हुए 60 लाख राशन कार्डों पर फिलहाल रोक लगा दी गई है।

हर शुक्रवार थानों की सफाई करेंगे पुलिसवाले:-

पीएम मोदी ने ‘स्वच्छ भारत अभियान’ को अपने जहन में उतारते हुए सफाई को तवज्जो दिया है। उन्होंने शुक्रवार का दिन सभी पुलिस थानों की सफाई के लिए फिक्स किया है। सबसे खास बात ये है कि सरकार ने हर थाने और पुलिस लाइन की साफ-सफाई का जिम्मा पुलिस वालों के ही सुपुर्द कर दिया है। ताकि स्वच्छता अभियान को पंख लग सके।

सभी फाइलें जल्दी निपटाएं अधिकारी:-

अक्सर ऐसा देखा जाता है कि सराकरी विभाग में आई कोई भी फाइल महीनों लंबित रहती है। जिसकी वजह से कामों में लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। लेकिन अब योगी सरकार ने ऐलान किया है कि सभी विभाग फाइलों को जल्द से जल्द निपटाएं। साथ ही योगी आदित्यनाथ ने फाइलों की आवाजाही पर अधिकारियों को सीधे निगरानी रखने का आदेश दिया है। जिसमें जनता से अच्छे व्यवहार को करना और फोन को तुंरत रिसीव करना भी शामिल है।

 (शिप्रा सक्सेना)