चेन्नई टेस्ट : पहले दोहरे शतक में 1 रन से चूके राहुल, भारत की स्थिति मजबूत

चेन्नई,| भारतीय क्रिकेट टीम ने इंग्लैंड को ठोस जवाब देते हुए एम. ए. चिदंबरम स्टेडियम में चल रहे पांचवें टेस्ट मैच के तीसरे दिन रविवार को चार विकेट खोकर 391 रन बना लिए हैं। लोकेश राहुल (199) की शानदार शतकीय पारी की बदौलत भारतीय टीम पूरे दिन इंग्लैंड पर हावी रही और अब पहली पारी के आधार पर मेजबान सिर्फ 86 रन दूर रह गए हैं।दिन का खेल खत्म होने तक करुण नायर 71 और मुरली विजय 17 रन बनाकर नाबाद लौटे। राहुल दिन के आखिरी विकेट के तौर पर पवेलियन लौटे। वह बेहद दुर्भाग्यशाली रहे और मात्र एक रन से दोहरे शतक से चूक गए। हालांकि उन्होंने अपने टेस्ट करियर का सर्वोच्च स्कोर हासिल किया।

rahul

राहुल ने 311 गेंदों की अपनी नायाब पारी में 16 चौके और तीन छक्के भी जड़े। वह शानदार लय में नजर आ रहे थे, लेकिन आदिल राशिद की ऑफ स्टम्प से बाहर और नीची रही गेंद पर गलत शॉट खेल बैठे। जोस बटलर ने उनका कैच लपका। वह 372 के कुल योग पर पवेलियन लौटे। भारतीय टीम ने दिन के पहले सत्र में पार्थिव पटेल (71) का विकेट गंवाया, जबकि दूसरे सत्र में चेतेश्वर पुजारा (16) और कप्तान विराट कोहली (15) के विकेट गिरे।बिना विकेट गंवाए 60 रन के स्कोर से आगे खेलने उतरी भारतीय टीम को पार्थिव ने सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल (नाबाद 89) के साथ पहले विकेट के लिए 152 रनों की साझेदारी निभाते हुए अच्छी शुरुआत दिलाई। उल्लेखनीय है कि भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाजों के बीच पूरी 32 पारियों के अंतराल के बाद शतकीय साझेदारी हुई है।

पार्थिव का विकेट मोइन अली ने लिया। जोस बटलर ने उनका कैच लपका। पार्थिव ने 112 गेंदों की अपनी संयमभरी पारी में सात चौके लगाए। पुजारा और कोहली हालांकि क्रीज पर नहीं टिक सके। पुजारा का विकेट बेन स्टोक्स ने और कोहली का विकेट स्टुअर्ट ब्रॉड ने लिया। इंग्लैंड ने मोइन अली (146), जोए रूट (88), जॉनी बेयरस्टो (49), लियाम डॉसन (नाबाद 66) और आदिल राशिद (60) के बल पर पहली पारी में 477 रनों का मजबूत स्कोर खड़ा किया है। पांच मैचों की श्रृंखला का यह आखिरी मैच है और भारतीय टीम पहले ही 3-0 से अजेय बढ़त ले चुकी है।