क्या करण जौहर बनेंगे केतन मेहता का सहारा

मुंबई। कंगना की रानी लक्ष्मी बाई की जिंदगी पर बनने वाली फिल्म से निर्देशक केतन मेहता को बाहर किए जाने के बाद इस मामले में एक नया टर्न आया है। सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार, इस विवाद में करण जौहर भी शामिल हो गए हैं, जिनका हाल ही में कंगना के साथ जोरदार झगड़ा हुआ था। सूत्रों का कहना है कि करण जौहर ने केतन मेहता से जल्द मुलाकात कर सकते हैं।

अगर मुलाकात सफल रही, तो हो सकता है कि करण जौहर सीधे या पर्दे के पीछे रहकर केतन मेहता को कंगना की जगह किसी और हीरोइन के साथ फिल्म शुरू करने में मदद करें और इसे कंगना की फिल्म के साथ ही रिलीज करें। सूत्रों का कहना है कि करण ने केतन मेहता को एक मैसेज किया है। मैसेज में करण ने लिखा है कि वे मुलाकात के लिए पूरे प्रोजेक्ट के साथ आएं। कहा जा रहा है कि करण जल्दी से इस प्रोजेक्ट को शुरू करने के पक्ष में है। इसे लेकर करण अपनी टीम के साथ चर्चा कर चुके हैं। इसके बाद ही केतन मेहता को मुलाकात के लिए बुलाया गया है।

आपसी मतभेदों के चलते कंगना की फिल्म में केतन मेहता की जगह साउथ के निर्देशक कृष को लाया गया है, जो इससे पहले अक्षय कुमार के साथ गब्बर बैक बना चुके हैं। साउथ का एक बड़ा बैनर इस फिल्म का निर्माण करने जा रहा है। हालांकि ये भी कहा जा रहा है कि कंगना की हाल ही में रिलीज हुई फिल्म रंगून को मिली नाकामयाबी के बाद इस प्रोजेक्ट की मार्केटिंग में परेशानी आ रही है। बता दें कि केतन मेहता ने सालों पहले सुष्मिता सेन के साथ इस फिल्म को शुरू किया था। सुष्मिता सेन ने इसके लिए अपना प्रोडक्शन हाउस भी शुरू किया था, लेकिन बात आगे नहीं बढ़ी, तो फिल्म बंद हो गई। सालों बाद कंगना के साथ केतन मेहता ने इस प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाया और कंगना ने उनको ही फिल्म से बाहर का रास्ता दिखा दिया।

दुश्मन का दुश्मन दोस्त बनने की पुरानी परंपरा को निभाते हुए अगर करण जौहर और केतन मेहता दोस्त बनकर इस प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाने का फैसला करते हैं, तो एक नया मुकाबला देखने को मिल सकता है।