करण के बयान पर कंगना का पलटवार…

नई दिल्ली। करण और कंगना के बीच की यह लड़ाई करण के शो कॉफी विद करण से शुरु हुई थी। बता दें की कंगना अपनी फिल्म ‘रंगून’ के प्रमोशन के लिए अपने को-स्टार सैफ और शाहिद के साथ इस शो में पंहुची थी। इस शो के दौरान कंगना ने करण पर हमला करते हुए उन्हे इंडस्ट्री का ‘मूवी माफिया’ कहा था। साथ ही उन्हें ‘भाई-भतीजावाद’ भी कहा था।

 

करण ने कंगना कि इन बातों का शो के दौरान तो कुछ जवाब नहीं दिया था। लेकिन हाल ही में हुए एक इंटरव्यू में करण ने कंगना की सारी बातों का जवाब दिया था। करण ने इंटरव्यू में कहा की यह उनका बड़प्पन था की उन्होने कंगना को अपने शो में जगह दी साथ ही अपनी बात कहने का मौका दिया। करण ने आगे यह भी कहा की कंगना को भाई-भतीजावाद का मतलब नहीं पता। करण ने कंगना को उनके शो के दौरान वुमेन कार्ड इस्तेमाल करने वाला बताते हुए कहा की वो कंगना का विक्टिम कार्ड देख कर तंग आ गए है और अगर उनको फिल्म इंडस्ट्री से इतनी ही परेशानी है तो वह इस इंडस्ट्री को छोड़ क्यों नहीं देती।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कंगना ने एक इंटरव्यू के दौरान करण की इन बातों का जवाब देते हुए कहा है कि करण ने मुझे शो पर बुला कर कोई मंच नहीं दिया है। साथ ही यह भी कहा की जंहा वह उन बातों को एडिट ना कराने की बात करते है तो वो केवल एक होस्ट है जिसको इस काम के लिए पैसे मिलते है। इन बातों को ना एडिट करना यह चैनल और शो की टीआरपी के लिए करते है।

कंगना ने यह भी कहा की अगर ‘मैं करन जौहर के ‘भाई-भतीजावाद’ की समझ के बारे में बात नहीं कर सकती। अगर वह सोचते हैं कि ये चीजें केवल भाई-बहन, भतीजा-भतीजी या बेटा-बेटी तक ही सीमित है तो मुझे इस बारे में कुछ भी नहीं कहना। मैं यह कहना चाहूंगी कि उन्होंने मुझे अपनी फिल्मों के लिए कभी नहीं चुना, जो एक कलाकार के तौर पर मेरा अपमान है। हालांकि, ऐसा लगता है कि उनकी याद्दाश्त कमजोर पड़ गई है, क्योंकि हमने एकसाथ फिल्म ‘उंगली’ में काम किया है, जिसे उन्होंने प्रड्यूस किया था और अचानक उन्हें लगा कि हमारी भावनाएं एक-दूसरे से नहीं मिलतीं।’

करण के उनको महिला कार्ड का इस्तेमाल करने वाला बताया तो इस पर जवाब देते हुए कंगना ने कहा की मैं सभी कार्ड इस्तेमाल करती हूं। काम की जगह पर बिंदास कार्ड, परिवार और अपनो के साथ लव कार्ड, और जब दुनिया से लड़ती हूं तो डिग्निटी कार्ड खेलती हूं।

कंगना इतने पर ही नही रुकी उन्होने करण के बच्चों की बात शुरु करते हुए कहा की अब करण एक बेटी के पिता बन चुके है तो उन्हे अपनी बेटी को वुमेन कार्ड, विक्टिम कार्ड और सेल्फ मेड वुमेन इंडिपेन्डेंट कार्ड और बिंदास कार्ड जो मैं खेलती उन सबके बारे में बताना चाहिए। ताकि हमें जब जिस कार्ड की जरुरत हो उस कार्ड को खेल सकें और किसी को भी खुद पर हावी होने से रोक सके।

अपने इंटरव्यू के आखिर में कंगना ने कहा की यह इंडस्ट्री को करण की नहीं है जो करण को उनके पिता ने शुरुआती दौर मे देदी हो। करण केवल इस इंडस्ट्री का छोटा सा हिस्सा है। फिल्म इंडस्ट्री में काम करने का सबका हक है जो इस इंडस्ट्री से जुड़ना चाहे वह जुड़ सकता है। मैने सब काम के दौरान ही सीखा और मुझे इसी का पैसा मिलता है। मैने अपने ही पैसो से न्यूयॉर्क जा कर पढ़ाई की और सीखा तो यह कौन होते है तय करने वाले की मुझे इस इंडस्ट्री में रहना चाहिए की नहीं।