‘जवाहर रोजगार योजना’ से पेट्रोल पंप मिलने की ठगी को लेकर सरकार ने किया आगाह

नई दिल्ली। केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने आम लोगों को ‘जवाहर रोजगार योजना’ के तहत पेट्रोल पंप मिलने की बात कह ठगी करने वालों से सावधान किया है। मंत्रालय ने मंगलवार को एक बयान जारी कर लोगों को चेताया है।
अपने बयान में मंत्रालय ने कहा कि कुछ अनैतिक व्यक्तियों ने पेट्रोलियम तथा प्राकृतिक गैस मंत्रालय के नाम से “जवाहर रोजगार योजना” नामक एक अस्तित्वहीन योजना के तहत पेट्रोल विक्रेताओं की नियुक्ति हेतु विज्ञापन जारी किया है तथा आवेदकों से अच्छी-खासी रकम बटोर रहे हैं। यह स्पष्ट किया जाता है कि पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने जवाहर रोजगार योजना के नाम से किसी स्कीम के तहत पेट्रोल पंप आवंटित करने का कोई विज्ञापन जारी नहीं किया है।

jawahar rozgar yojana
jawahar rozgar yojana

बता दें कि विक्रेताओं की नियुक्ति में पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय की कोई भूमिका नहीं है। तीन तेल विपणन कंपनियां यथा भारतीय तेल निगम लिमिटेड (आईओसीएल), भारत पेट्रोलियम निगम लिमिटेड (बीपीसीएल) तथा हिन्दुस्तान पेट्रोलियम निगम (एचपीसीएल) अपने व्यवहारिकता अध्ययन के आधार पर स्थान का चयन कर मौजूदा मार्ग-निर्देशों के अनुसार विक्रेताओं की नियुक्ति हेतु विज्ञापन जारी करती हैं।

वहीं यह भी स्पष्ट किया जाता है कि न तो भारत सरकार ने और न ही तेल विपणन कंपनियों ने जवाहर रोजगार योजना के तहत विक्रेताओं की नियुक्ति का कोई विज्ञापन दिया है। प्रत्यक्षतः ऐसा लगता है कि कुछ अनैतिक तत्व भारत सरकार के नाम का दुरुपयोग कर रहे हैं। तदनुसार, सामान्य जनता को सलाह दी जाती है कि किसी ऐसे विज्ञापन/योजना पर कोई ध्यान न दें।