नक्सलियों को रोकने के लिए गांव की सड़कों पर बिछाया जाएगा जाल

रांची। फोकस एरिया डेवलपमेंट प्लान के तहत राज्य की सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कों पर जाल बिछाया जाएगा। गांव को शहरों से जोड़कर विकास कार्य तेजी से चलाने के लिए राज्य सरकार ग्रामीण सड़कों की मरम्मत और नई सड़के बनाने की स्वीकृति दे रही है। इसके लिए सड़को पर तेजी से काम हो रहा है ताकि जल्द से जल्द काम पूरा करने के बाद सड़कों पर जाल बिछाने की प्रक्रिया को शुरू किया जाए। ये प्रक्रिया नक्सलियों को रोकने के लिए शुरू की जा रही है।

ग्रामीण इलाकों में यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने का प्रयास तेजी से किया जा रहा है। उन इलाकों में सड़क की क्षमता बढ़ाने के लिए विस्तृत योजना तैयार की गई है। इससे नक्सल प्रभावित ग्रामीण क्षेत्रों तक सुरक्षा बलों को पहुंचाने में भी आसानी होगी और नक्सलियों का सफाया होगा। सरकार विकास के साथ-साथ उन क्षेत्रों को नक्सल मुक्त करने और वहां शांति व्यवस्था बहाल करने की दिशा में भी काम कर रही है। गृह विभाग ने अति संवेदनशील और अति आवश्यक सड़कों के निर्माण के लिए राज्य के सभी डीसी और एसपी को निर्देश देते हुए कहा है कि वह अपने जिले के सुदूर ग्रामीण इलाकों में नितांत आवश्यक पांच-पांच ग्रामीण सड़कों की सूची भेजें।

गौरतलब है कि राज्य में फोकस एरिया डेवलपमेंट प्लान के क्षेत्रों में मुख्य सचिव राजबाला वर्मा अफसरों के साथ लगातार दौरा कर समीक्षा बैठक कर रही है। उनके साथ गृह सचिव एस के जी रहाटे और डीजीपी डीके पांडेय भी लगातार समीक्षा बैठक में शामिल होते रहे है। नक्सलियों को रोकने की इस तरकीब को जल्द से जल्द अंजाम दिया जाएगा। जिससे सड़कों की मरम्मत के बाद गांवों की सड़कों पर जाल बिछाया जाएगा।