‘जमी‘ ने जगाया फोक, फ्यूजन और वर्ल्ड म्यूजिक का जादू

जयपुर। जयपुर के लोगों ने शुक्रवार को जवाहर लाल कला केंद्र की वीकेंड थिएटर एवं सांस्कृतिक गतिविधियों के तहत रंगायन सभागार में इंडो बाल्कन म्यूजिक बैंड ‘जमी‘ की प्रस्तुति का जमकर लुफ्त उठाया। पर्यटन विभाग के सहयोग से दी गयी यह प्रस्तुति ‘उदयपुर वर्ल्ड म्यूजिक फेस्टिवल-2017‘ के द्वितीय संस्करण के पूर्व कार्यक्रम के रूप में आयोजित की गयी।

बैंड द्वारा दिल को छू लेने वाली मकदूनियाई लय एवं जिप्सी धुनों के साथ सूफी, ग्रामीण लोक गीत, भारतीय पवित्र मंगलाचरण को शामिल करते हुए बाल्कन एवं भारतीय संगीत पर आधारित दमादम मस्त कलंदर, गजानंद, मेसेसिला, जरेलो, पाखी, साया और मेराक गानों की प्रस्तुति दी और श्रोताओं की तालियां बटोरी।
प्रस्तुति देने वाले ‘जमी‘ बैंड के कलाकारों में स्लोवेनिया और भारत के कलाकार थे। बैंड के सदस्यों में निका सोल्से (वोकल्स एवं गिटार), साहिबा खान (वोकल्स), मातिजा सोल्से (अकॉर्डिअन्स एवं वोकल्स), विनायक नेटके (तबला एवं परकुषनस्), तिलेन स्टेपिस्नीक (गिटार), टोबी कुहन (सैलो) और जिगा सेर्कर (परकुषनस्) शामिल थे।

शानदार प्रदर्शन के बाद जमी ने कहा, भारत में जमी का यह पहला दौरा है और जाने-माने उदयपुर वर्ल्ड म्युजिक फेस्टिवल के पूर्वावलोकन के तौर पर जयपुर में सहर के लिए प्रस्तुति देना बैंड के लिए एक सम्मान की बात है।