12 दिसंबर को संसद में रहेगा अवकाश

नई दिल्ली| नोटबंदी की चर्चा पर मतभेद के बावजूद लोकसभा सदस्य गुरुवार को 12 दिसंबर को एक अवकाश घोषित किए जाने को लेकर एकजुट नजर आए। इससे उन्हें सप्ताहांत में चार दिनों का विस्तारित अवकाश मिल जाएगा। लोकसभा सदस्यों ने बुधवार को अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से 12 दिसंबर को एक अवकाश घोषित करने का आग्रह किया क्योंकि 13 दिसंबर को पैगंबर मोहम्मद का जन्मदिन होने की वजह से और 10 व 11 दिसंबर सप्ताहांत होने की वजह से अवकाश है।

parliament

यह मुद्दा बुधवार को कार्य मंत्रणा समिति (बीएसी) की बैठक में उठाया गया और इस पर सहमति बनी कि 12 दिसंबर को अवकाश रहेगा। लोकसभा अध्यक्ष ने कहा, “बीएसी ने सिफारिश की है कि बैठक ‘मिलाद-उन-नबी’ की वजह से रद्द की जा सकती है। उन्होंने इस पर सदस्यों से आपत्ति की बात भी पूछी। सांसदों ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव का समर्थन किया। इसके बाद अध्यक्ष ने कहा, “हर कोई अवकाश के लिए तैयार है।”

लोकसभा में शीत सत्र के दौरान नोटबंदी पर चर्चा के साथ वोटिंग को मांग को लेकर हंगामा और अवरोध देखा गया। इस मांग पर सरकार तैयार नहीं हुई। लोकसभा में सोमवार को नियम 193 के तहत इस मुद्दे पर चर्चा की शुरुआत की गई।