अंतराष्ट्रीय योग दिवस पर सपाइयों की मोटरसाइकिल रैली : मेरठ

मेरठ। अंतराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर समाजवादी पार्टी ने साइकिल रैली का आव्हान किया है, जिसके लिए बकायदा पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सभी नेताओं कार्यकर्ताओं को योग दिवस के दिन साइकिल चलने की हिदायत दी है। अखिलेश ने योग दिवस के मौके पर साइकिल रैली का आयोजन करके योग दिवस को भी राजनीतिक दिवस में बदल दिया है।

लेकिन मेरठ में अखिलेश यादव के आदेशों को ताक पर रखकर उनके नेता उनको गुमराह कर रहे है, और साइकिलों की जगह कार और बाइक से ही रैली निकाल रहे है, इस मौके पर साइकिल रैली की जगह सपाई फोटो खिचवाने की होड़ में लगे रहे है, जिसके लिए कार्यकर्ताओं और नेताओं में काफी गहमागहमी रही, सपाइयों की माने तो वो योग की जगह साइकिल रैली इसलिए निकाल रहे है, क्योंकि साइकिल चलाने से स्वास्थ्य अच्छा रहेता है,साथ ही सपाइयों ने भाजपाइयों पर आरोप लगाया, की भाजपा योग को धर्म से जोड़कर चलती है।

आपको बता दें की अंतराष्ट्रीय योग दिवस के दिन साइकिल रैली को निकालकर सपा ने आज के दिन को राजनीति दिवस बना दिया है, जबकि सपाइयों का अजीब गरीब जवाब था, की साइकिल हर व्यक्ति गरीब मजदूर भी चला सकता है, जबकि गरीब योग नहीं कर सकता, ये अजीब बयान देकर सपाई काफी खुस दिख रहे थे, लेकिन इस तरह के बेहूदा जवाब सपाई लाते कहा से है, ये अजीबोगरीब जवाब किसी और ने नहीं बल्कि एमएलसी सरोजनी अग्रवाल और मेरठ जिलाध्यक्ष राजपाल सैनी ने दिया है।