ICJ कोर्ट ने जाधव की फांसी पर लगाई रोक, पाक को लगा झटका

नई दिल्ली कुलभूषण मामले को लेकर भारत पाक के बीच चल रही इस जंग का फैसला अब बहुत जल्द होने वाला है। इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस कुलभूषण जाधव पर बहुत जल्द अपना फैसला सुनाने वाली है। फैसला भारतीय समय के मुताबिक दोपहर 3.30 बजे सुनाया जायेगा। विदेश मंत्रालय के अधिकारी और भारत की तरफ से पैरवी करने वाले वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे हेग पहुंच गए हैं। जाधव को बचाने के लिए हो रही हैं पूजा अर्चना।

कूलभूषण जाधव के फैसले पर भारत को बड़ी जीत मिली हैं। ICJ के जज जस्टिस रोनी अब्राहम ने फैसला सुनाते हुए कहा कि उसे जासूस बताने वाला पाकिस्तान का दावा नहीं माना जा सकता हैं। पाकिस्तान ने अदालत में जो भी दलीलें दीं, वे भारत के तर्क के आगे कहीं नहीं ठहरतीं। साथ ही कोर्ट ने कहा कि वियना संधि के तहत भारत को कुलभूषण जाधव तक कॉन्सुलर एक्सेस मिलना चाहिए। अंतिम फैसला आने तक जाधव की फांसी पर रोक लगी रहनी चाहिए।

गौरलतब हैं कि अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में जाधव की ओर से वरिष्ठ वकील हरीश साल्वे ने केस की पैरवी की थी। भारत ने अपनी दलील रखते हुए मांग की थी कि जाधव की मौत की सजा को तत्काल निलंबित किया जाए। भारत ने आशंका जताई थी कि पाकिस्तान आईसीजे में सुनवाई पूरी होने से पहले जाधव को फांसी दे सकता है।

क्या है मामला

बता दें कि पाकिस्तान की मिलिट्री कोर्ट ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाई है, उन पर पाकिस्तान के लिए जासूसी करने और देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप लगा है। भारत का कहना है कि जाधव को ईरान से अगवा किया गया था, वो भारतीय नेवी से रिटायरमेंट के बाद ईरान में अपना बिजनेस चला रहे थे। जबकि पाकिस्तान का दावा है कि कुलभूषण को ब्लूचिस्तान से 3 मार्च 2016 को हिरासत में लिया था।

भारत ने दायर की पिटीशन

इंटरनेशनल कोर्ट में भारत की तरफ से सीनियर एडवोकेट हरीश साल्वे ने 8 मई को पिटीशन दायर की थी। भारत ने यह मांग की थी कि भारत के पक्ष की मेरिट जांचने से पहले जाधव की फांसी पर रोक लगाई जाए।

जाने कौन हैं कुलभूषण जाधव:

  • कुलभूषण जाधव मुंबई के रहने वाले है।
  • उनके पिता सुधीर जाधव और चाच सुभाष जाधव मुंबई पुलिस में काम करते थे।
  • कुलभूषण के एक रिटायर्ड भारतीय नौसेना अधिकारी है।
  • मार्च 2016 में पाकिस्तान ने रॉ एजेंट होने के इल्जाम में गिरफ्तार कर लिया था।
  • पाक का कहना है कि जाधव ईरान में रहते थे और वहां से बलूचिस्तान का दौरा करते थे।
  • वहीं भारत सरकार का कहना है कि जाधव को ईरान से पकड़ा गया है।
  • वो कारोबार के सिलसिले में ईरान, अफगानिस्तान और पाकिस्तान जाया करते थे।