रूड़की की मित्र पुलिस का अमानवीय चेहरा

रूड़की। रुड़की की कलियर पुलिस का कारनामा, महिला के साथ हुए गैंगरेप की कीमत लगाईं 600 रूपये, बिना किसी कार्यवाही के महिला को वापस भेजा और तो और महिला के पहनावे पर भी पुलिस ने उठाये सवाल पुलिस ने पीड़ित महिला से कहा इस तरह के फैंसी कपडे पहनोगी तो कोई भी पीछे पड़ जाएगा। अब महिला वापस आई है और अपनी आप बीती बता रही है कि किस तरह से उसके साथ गैंगरेप हुआ और किस तरह पुलिस ने उसे पैसे देकर वापस भेजा था।

rurkeey

रूडकी में उत्तराखंड की मित्र पुलिस का क्रूर चेहरा एक बार फिर उजागर हुआ है और इस बार पुलिस का तानाशाही रवैय्या एक महिला श्रद्धालु के खिलाफ दिखाई दिया है ।मामला रुड़की के पास स्थित पिरान कलियर का है जहाँ पर तकरीबन तेरह दिन पूर्व एक महिला के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया था। लेकिन उस वक़्त महिला का कही कोई अता- पता नहीं चल पाया था केवल प्रत्यक्षदर्शी के माध्यम से ही मीडिया को घटना की जानकारी मिल पाई थी ।

उस समय पुलिस ने भी यह कहकर अपना पल्ला झाड़ लिया था की महिला की तरफ से ऐसी कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गई थी । अब इस मामले में नया मोड़ तब आया जब गैंगरेप की पीड़ित महिला ने अपना पूरा दुखड़ा मीडिया के सामने आकर बताया,मध्यप्रदेश के खंडवा ज़िले की रहने वाली इस महिला का कहना है कि वो हर साल की तरह इस साल भी विश्वविख्यात दरगाह साबिर पाक की ज़ियारत के लिए पिरान कलियर आई थी । वही से कुछ गुंडों ने उसे अगवा कर लिया था और दरगाह से कुछ ही दूरी पर एक सुनसान जगह पर ले जाकर उसके साथ जबरदस्ती गलत काम किया।

rp_shakeel-anwer-roorkee-uttarakhandशकील अनवर, संवाददाता