वनडे मैच की चौथी सीरीज में अपना 300वां मैच खेलेंगे धोनी, बना सकते हैं ये रिकोर्ड

कोलंबों। कोलंबो में खेला रहा भरत और श्रीलंका के बीच चौथी सीरीज सभी के लिए खास है लेकिन ये सीरीज पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के लिए सबसे ही खास है क्योंकि इस सीरीज में धोनी अपना 300वां मैच खेल रहे हैं। धोनी ने अब तक जिस तरह का प्रदर्शन किया है। उसे देखते हुए गुरूवार को सबकी नजरें धोनी पर ही टिकी हैं और धोनी के प्रदर्शन को देखते हुए सबकी उम्मीदें उन पर और बढ़ गई हैं। सीरीज के दो मैचों में धोनी ने नाबाद रहकर 112 रन बनाएं हैं और तीसरे मैच में भी धोनी ने भारत को जीत दिलाने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। धोनी के पास चौथी सीरीज में दो वर्ल्ड रिकोर्ड स्थापित करने का मौका होगा।

indvssl, ms dhoni, record, odi match, india, sri lanka, colanbo
ms dhoni 300 match

बता दें कि सीरीज में अपने बल्‍लेबाजी प्रदर्शन से टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान ने उन आलोचकों को मुंहतोड़ जवाब दिया है जो उन्‍हें चुका हुआ मानकर वर्ल्‍डकप 2019 के लिए उनके विकल्‍प को तलाशने की सलाह दे रहे थे। सीरीज के दूसरे वनडे मैच में जब टीम इंडिया 131 रन पर सात विकेट गंवा चुकी थी तब धोनी ने भुवनेश्‍वर कुमार के साथ मिलकर टीम इंडिया को तीन विकेट की यादगार जीत दिला दी। उन्‍होंने विपरीत परिस्थितियों में भुवी के साथ जिस तरह से 100 रन की अविजित साझेदारी की, उसने माही के ‘फिनिशर’ के रोल की याद ताजा कर दी। रविवार को तीसरे वनडे मैच में भी धोनी, रोहित शर्मा के आदर्श जोड़ीदार साबित हुए। उन्‍होंने इस मैच में रोहित के साथ नाबाद 157 रन की साझेदारी करते हुए टीम इंडिया को छह विकेट की जीत दिलाई।

वहीं सीरीज के दूसरे और तीसरे वनडे मैच में धोनी नाबाद रहे थे। यदि नाबाद रहने का सिलसिला वे कोलंबो वनडे में भी बरकरार रखते हैं तो वनडे में सबसे अधिक बार नाट आउट रहने के शॉन पोलाक और चामिंडा वास के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ देंगे। धोनी इस समय 299 वनडे मैचों में 72 बार नाट आउट रहे हैं। वे इस मामले में पोलाक और वास के साथ संयुक्‍त रूप से बराबरी पर हैं। यदि वे कल के मैच में नाबाद रहे तो इन दोनों पूर्व क्रिकेटरों को पीछे छोड़ देंगे। गौरतलब है कि धोनी ने 299 वनडे मैचों में अब तक 10 शतक और 65 अर्धशतक की मदद से 9608 रन बनाए हैं और उनका औसत 51.93 का है।