उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने किया विन्ध्य व्यापार मेले का शुभारंभ

सतना। प्रदेश के वाणिज्य एवं उद्योग तथा खनिज साधन मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने बीते शुक्रवार को देर शाम सतना में विन्ध्य चेम्बर आफ कामर्स एण्ड इण्डस्ट्रीज सतना के तत्वावधान में आयोजित नवमें 11 दिवसीय विन्ध्य व्यापार मेले का भव्य समारोह में शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि सतना में आयोजित विन्ध्य व्यापार मेला पूरे विन्ध्य क्षेत्र की शान है। इसकी ख्याति दूर-दूर तक है। किसी भी क्षेत्र के विकास के लिये हरित पर्यटन और औद्योगिक क्रांति होना जरूरी है और विन्ध्य क्षेत्र के विकास के लिये ये सभी संभावनाएं मौजूद हैं।

rajendra shukla
rajendra shukla

इस मौके पर सांसद गणेश सिंह, महापौर ममता पाण्डेय, जिला पंचायत अध्यक्ष सुधा सिंह, नगर निगम के स्पीकर अनिल जायसवाल, कलेक्टर मुकेश कुमार शुक्ला, पुलिस अधीक्षक राजेश हिगंणकर, चेम्बर आफ कामर्स के अध्यक्ष विवेक अग्रवाल, पूर्व अध्यक्ष योगेश ताम्रकार, नरेन्द्र त्रिपाठी, लक्ष्मी यादव, विवेक दुबे भी उपस्थित रहे।उद्योग मंत्री ने कहा कि यह संयोग है कि विन्ध्य व्यापार मेले के शुभारंभ के दिन ही आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केन्द्रीय नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा राज्यमंत्री आर.के.सिंह ने पडोसी जिले रीवा में दुनिया के सबसे बडे सोलर प्लांट की आधारशिला गुढ मे रखी है। इसमे लगभग साढे चार हजार करोड़ रूपये का निवेश होगा। इसी प्रकार सतना जिले मे बाबूपुर में 150 करोड़ रूपये की लागत से तथा मैहर मे 17 करोड़ की लागत से नवीन औद्योगिक क्षेत्र विकसित किये जा रहे है।

वहीं बाबूपुर में लगभग 15 हजार करोड़ का निवेश होना है। देश मे बनाये जा रहे 5 प्रमुख औद्योगिक कारीडोरो मे से अमृतसर से कलकत्ता औद्योगिक कारीडोर को बनारस से बढाकर रीवा होते हुये जबलपुर तक किये जाने का प्रस्ताव भी राज्य शासन की ओर से केन्द्र सरकार को भेजा गया है। उन्होने बताया कि सतना बेला सडक़ का कार्य जनवरी के अंतिम सप्ताह तक पुन: शुरू हो जायेगा। सतना से माधवगढ और माधवगढ से सज्जनपुर तक थ्री-लेन सडक बनाने और सौन्दर्यीकरण के लिये 50 करोड़ रूपये का प्रस्ताव भी भेजा गया है। उन्होंने स्थानीय जिला प्रशासन को विन्ध्य चेम्बर आफ कामर्स की मांग अनुसार जमीन आबंटन हेतु उपलब्धता के अनुरूप सर्वे की कार्यवाही करने के निर्देश दिये।