अखिलेशराज ने उद्योगों के मामले में यूपी को पिछाड़ा है- बीजेपी

देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में योगी सरकार आते ही आए दिन अपराधियों पर नकेल कसने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं। ऐसे में पिछली सरकार के कामकाज पर भी कई सारे सवाल खड़े होते जा रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के राज्य के विकास को लेकर नई उद्योग नीति, अधिकारियों की लापरवाही और विभिन्न घटनाओं में संलिप्त अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई व जबावदेही तय किए जाने को लेकर उठाए जा रहे कदमों को राज्य के लिए हितकर बताया है। ऐसे में
प्रदेश प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने पूर्व अखिलेश यादव की सरकार पर निशाना साधा है। उनका कहना है कि राज्य की पूर्ववर्ती अखिलेश सरकार में उद्योग के मामले में उत्तर प्रदेश पिछड़ता गया है।

उन्होंने कहा कि अब योगी सरकार राज्य में उद्योग को बढ़ावा देने के लिए बिजली दर में व्यवाहारिक बनाने सहित कई ठोस कदम उठा रही है। शुक्ला ने कहा कि योगी सरकार उत्तर प्रदेश को एक निर्यात केन्द्र बनाने की तैयारी कर रही है। उन्होंने बताया कि नई औद्योगिक नीति के तहत इसका प्रावधान किया गया है। निर्यात होने वाली वस्तुओं पर राज्य सरकार छूट देकर उद्योग को बढ़ाने पर जोर दे रही है ताकि राज्य का समुचित विकास हो सके।

उन्होंने कहा कि कृषि उत्पादकता बढ़ाने के साथ-साथ पशुपालन, दुग्ध उत्पादन व बागवानी के उन्नत तकनीक के सहारे किसानों का आय दोगुनी करने के लिए कार्य हो रहा है।
प्रवक्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री राज्य के कई धार्मिक स्थलों को पर्यटन के रूप में विकसित करेंगे। उन्होंने गढ़मुक्तेश्वर को हरिद्वार की तर्ज पर विकसित करने को कहा है। उनके अनुसार अयोध्या, काशी, मथुरा, इलाहाबाद जैसे धार्मिक स्थलों को 24 घंटे बिजली सप्लाई होने से अब वहां पर्यटकों का आवागमन बढ़ेगा। साथ ही उन्होंने बताया कि इससे स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिलेगा।