उद्योगपति बिहार में करें पूंजी निवेश: नीतीश

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने यहां शुक्रवार को राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति पर उठाए जा रहे सवालों को नकारते हुए कहा कि अपराध के बाद सरकार तत्काल कारवाई करती है। अपराध के आकड़ों में भी बिहार अन्य राज्यों से बेहतर स्थिति में है। उन्होंने व्यापारियों और उद्योगपतियों से बिहार में पूंजी निवेश करने करने की अपील की। पटना में बिहार चैंबर ऑफ कॉमर्स इंडस्ट्रीज के 90 वें स्थापना दिवस समारोह को संबोधित करते हुए नीतीश ने व्यापारियों और उद्योगपतियों से सवालिया लहजे में कहा कि जहां सबसे ज्यादा अंडरवल्र्ड हैं, वहां सबसे ज्यादा इन्वेस्टमेंट या पूंजी निवेश क्यों होता है?

Nitish

इस समारोह के मुख्य अतिथि उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी थे, लेकिन मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में राज्य में पूंजी निवेश के लिए उद्येगपतियों को आकर्षित करने के खूब प्रयास किए। नीतीश ने कहा, “हम उत्पादक नहीं, उपभोक्ता हैं और बिना उद्योग के विकास संभव नहीं है। राज्य में निवेश की बड़ी संभावना है। बिहार के लोग बाहर जाकर खूब पैसा कमाते हैं, लेकिन अगर वे थोड़ा-मोड़ा बिहार में भी पैसा लगाएंगे तो राज्य का भी भला होगा और राज्य में रोजगार की संभावनाएं भी बढ़ेगी।”

नीतीश में राज्य में आधारभूत संरचनाओं में सुधार का दावा करते हुए कहा कि राज्य में बिजली की स्थिति में सुधार हुआ है, सड़कें बेहतर हुई हैं। उन्होंने हालांकि यह भी कहा कि बिना रिस्क के गेन नहीं होता है। लाभ के लिए जोखिम उठाना ही पड़ता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बुनियादी ढांचों के सुधार के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं और हम आगे और मजबूत होंगे। बिहार में मेहनतकश लोगों की अपार संख्या है।

इस समारोह में राज्य के कई उद्योगपति भी शामिल थे। इस मौके पर वेदांता के अनिल अग्रवाल ने घोषणा की कि आने वाले दिनों में राज्य में कई क्षेत्रों में निवेश के लिए उन्होंने राज्य सरकार से बातचीत शुरू की है। उन्होंने कहा कि उद्योगों एवं निवेश को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा बनाई गई नीतियों की बदौलत प्रसंस्करण उद्योग के क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं।