भारत-नेपाल के जवानों ने साझा की सैन्य सूचनाएं

पिथौराढ़। भारत नेपाल के बीच चल रहे 11वें संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण के दूसरे दिन दोनों देशों के जवानों ने आतंकवादी गतिविधियों से निपटने का अभ्यास किया और अपने अनुभव साझा किए। मौसम खराब होने के चलते बुधवार को फील्ड गतिविधियां ज्यादा नहीं हो पाई। सैनिकों के बीच चर्चाओं में जवानों ने अपने-अपने देश की सैन्य गतिविधियों की जानकारियां साझा की।

संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण सूर्यकिरण के दूसरे दिन जवानों ने सुबह फील्ड एक्सरसाइज के साथ ही विभिन्न खेलों में प्रतिभाग किया। दोपहर में आतंकवादी हमले की स्थिति से निपटने का अभ्यास किया। जिसमें जवानों ने बहुमंजिली इमारतों से रस्सों के सहारे चढ़ने और उतरने। भवन में प्रवेश करने संबंधी गतिविधियां दिखाई। हिमालयी क्षेत्र में किसी भी प्रकार की आतंकवादी गतिविधि से निपटने का अभ्यास को इस आयोजन में महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है।

दोपहर बाद हल्की बूंदाबादी के चलते फील्ड अभ्यास की जगह चर्चाओं का आयोजन किया गया। जिसमें दोनों देशों के जवानों ने एक दूसरे को अपने-अपने देश के इतिहास, समाज आदि के बारे में जानकारियां दी। गुरु वार को जवान आपदा प्रबंधन का अभ्यास करेंगे और अब तक हासिल अनुभव एक दूसरे को बतायेंगे।

बताते चले कि नेपाल और भारत के हिमालयी क्षेत्र में अक्सर आपदाएं आती रहती हैं और इन आपदाओं से निपटने में सेनाओं की भूमिका महत्वपूर्ण रहती है। अभ्यास में नेपाली सेना का प्रतिनिधित्व दुर्गा बक्स बटालियन और भारत सेना का प्रतिनिधित्व पंजाब रेजीमेंट की एकता शक्ति बटालियन कर रही है।